कोरोना के चलते स्कूल शिक्षा सर्वाधिक प्रभावित है। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए सरकार स्कूलों में प्रवेश के लिए कोई रणनीति भी नही बना पा रही है। लेकिन अब बोर्ड ने 11वीं के प्रवेश के लिए सितंबर माह की घोषणा कर दी है। उत्तराखंड बोर्ड के स्कूलों में 11वीं में प्रवेश अगले माह से शुरू होंगे। स्कूल बदलने वाले छात्रों के लिए अलग से एसओपी तैयार की जा रही है। सरकारी स्कूलों में ज्यादातर कक्षाओं में प्रवेश की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। लेकिन उत्तराखंड बोर्ड का रिजल्ट हाल ही में आने के बाद 11वीं कक्षा में प्रवेश की प्रक्रिया होगी।

विभाग प्रवेश प्रक्रिया के दौरान कोविड-19 की गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने के लिए एसओपी तैयार कर रहा है। मुख्य शिक्षा अधिकारी आशारानी पैन्यूली ने बताया कि जिन छात्रों का स्कूल नहीं बदलना है, उनके दाखिलों में कोई परेशानी नहीं होगी। दूसरे स्कूलों में प्रवेश लेने वाले छात्रों के लिए गाइडलाइन तैयार की जा रही है। उन्हें टीसी व अन्य दस्तावेज लेने में किसी तरह की दिक्कत ना हो, इसकी भी व्यवस्था की जा रही है।


दूसरी तरफ विश्विद्यालयों के अंतिम वर्ष की परीक्षाओं के लिए भी घोषणाएं कर दी गई हैं। दूसरे स्कूलों में प्रवेश लेने वाले छात्रों के लिए गाइडलाइन तैयार की जा रही है। उन्हें टीसी व अन्य दस्तावेज लेने में किसी तरह की दिक्कत ना हो, इसकी भी व्यवस्था की जा रही है।


एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ. सुनील अग्रवाल ने मानव संसाधन विकास मंत्री को पत्र भेजकर परीक्षाओं के संदर्भ में कुछ सुझाव भेजे हैं। उन्होंने कहा है कि अब जबकि कोरोना संक्रमण देश में लगातार तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में यूजीसी को 30 सितंबर तक परीक्षाएं कराने के आदेश में संशोधन करना चाहिए और परिस्थितियों में सुधार होने पर परीक्षाएं कराने के आदेश देने चाहिए।