सोमवार को 592 नए मामले सामने आए हैं, जबकि 12 संक्रमितों की मौत हुई है। वहीं, 604 मरीज ठीक भी हुए हैं। प्रदेश में अब कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 19827 पहुंच गया है, जिनमें से 13608 स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 5887 मामले एक्टिव हैं, जबकि 269 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 63 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।

जिलों की स्थिति:- सबसे अधिक 149 मामले देहरादून से हैं। इसके अलावा 138 हरिद्वार, 99 नैनीताल, 58 ऊधमसिंहनगर, 52 टिहरी गढ़वाल, 41 उत्तरकाशी, 13-13 पौड़ी गढ़वाल और चंपावत, 10 अल्मोड़ा, 07 रुद्रप्रयाग, 06-06 बागेश्वर और पिथौरागढ़ में सामने आए हैं।

मौतों का आंकड़ा:- दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना संक्रमित तीन मरीजों की मौत हुई है। इनमें बड़ोवाला रोड, विकासनगर निवासी 42 वर्षीय पुलिस के कांस्टेबल भी शामिल हैं। उनकी तैनाती हरिद्वार में थी। तबीयत बिगड़ने पर स्वजनों ने उन्हें दून में एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें शनिवार रात दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर किया गया था। वहीं, हरिद्वार के रानीपुर मोड़ निवासी 64 वर्षीय बुजुर्ग को 17 अगस्त को दून में भर्ती कराया गया था। कोरोना संक्रमित देवऋषि एनक्लेव निवासी 30 साल की महिला की भी मौत हुई है। एम्स ऋषिकेश में भी तीन मरीजों की मौत हुई है। इनमें 33 वर्षीय व्यक्ति, 63 वर्षीय शख्स और 70 साल के बुजुर्ग शामिल हैं। हल्द्वानी स्थित डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में भर्ती सात मरीजों की मौत हुई है। नैनीताल के रानीबाग निवासी 58 वर्षीय मरीज हृदय रोग, डायबिटीज व सांस सबंधी बीमारी और ज्योलिकोट निवासी 65 वर्षीय बुजुर्ग श्वास रोग से ग्रस्त थे। रुद्रपुर निवासी 65 वर्षीय बुजुर्ग व खटीमा की 54 वर्षीय महिला की भी मौत हुई है। वहीं हल्द्वानी के 43 वर्ष व्यक्ति की भी मौत हुई है। एसटीएच में ही देर रात जज फार्म निवासी 59 वर्षीय मरीज और रुद्रपुर के 44 साल के मरीज ने भी दम तोड़ दिया।