केदारनाथ आपदा, चमोली जिला मुख्यालय से लगी ग्राम पंचायत हरमनी के गाँव में वर्षों बाद भी सरकारी दावे निकले झूठे

 

केदारनाथ आपदा अपने साथ बहुत से जख्म लेकर आई, जो आज भी हरे के हरे हैं। सरकारें झूठे दावे करती रही और लोग ऐसे घरों में शरण लेने को मजबूर रहे जिनमे दरारें पड़ी हुई है। एक ऐसी ही तस्वीर और रिपोर्ट पाठकों के साथ "पहाड़ समीक्षा" साँझा कर रहा है। चमोली जिले में वर्ष 2013 की आपदा के बाद भले ही सरकारों ने पुर्नवास और आपदा पीड़ितों को राहत देने के नाम पर बड़े-बड़े दावे किए हैं। लेकिन चमोली जिला मुख्यालय से लगी ग्राम पंचायत हरमनी के पोल गांव के ग्रामीणों के लिये वर्षों बाद भी सरकारी दावे हवा-हवाई साबित हो रहे हैं। वर्तमान तक गांव के पुर्नवास को लेकर कोई कार्रवाई न होने के चलते यहां गांव के 25 परिवार आज भी अपने दरके घरों में जिंदगी की जुगत में जुटे हुए हैं। लेकिन वर्तमान तक इस गांव के लिये शासन और प्रशासन की ओर से कोई ठोस कार्य योजना नहीं बनाई जा सकी है।

चमोली जिला मुख्यालय गोपेश्वर से महज 15 किमी की दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत हरमनी के पोल तोक में वर्ष 2013 की आपदा के दौरान भूस्खलन शुरु हो गया था। जिससे यहां बने घरों पर दरारें पड़ने लगी थी। जिसके बाद ग्रामीणों की ओर से सूचना मिलने पर तहसील प्रशासन की ओर से गांव का निरीक्षण किया गया और भूगर्भीय सर्वेक्षण के बाद गांव को पुर्नवास की सूची में शामिल कर दिया गया। लेकिन पुर्नवास की सूची में शामिल होने के बाद यहां निवास कर रहे 25 परिवारों के पुर्नवास को लेकर कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी। ऐसे में ग्रामीण बीते सात सालों से धीरे-धीरे घर की चौड़ी होती दरारों को सीमेंट से पाटकर जैसे-तैसे जिंदगी बसर कर रहे हैं। ग्रामीणों का कहना है कि जन प्रतिनिधियों से लेकर अधिकारियों तक सब से पुर्नवास को लेकर गुहार लगाई गई, लेकिन कोई कारवाई होती नजर नहीं आ रही है। ऐसे में अब अपने घरों में रहने में भी डर लग रही है। कहा कि यदि अभी सरकार की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की जाती तो गांव में बड़ा हादसा हो सकता है।

(BDO) Block Development Officer Vacancy Uttarakhand 2020
Uttarakhand Education Department- 658 Vacancies
अगस्तमुनि से रुद्रप्रयाग जा रही बोलेरो हादसे का शिकार, सड़क पर ही पलट गई गाड़ी ।
श्रीनगर गढ़वाल में यूटिलिटी चालक ने स्कूटी सवार को कुचल डाला, युवक की मौत ।
कर्णप्रयाग में बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत दूसरा गम्भीर रूप से घायल ।
कौड़ियाला-तोताघाटी में 15 मीटर सड़क ढही, मरम्मत का कार्य जारी ।
PMGSY RECRUITMENT 2020 UTTARAKHAND
पाकिस्तान की गोलाबारी में ऋषिकेश के राकेश डोभाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल ।
कॉलेज की छात्रा से किया शादी वादा फिर तीन साल बनाए शाररिक सम्बन्ध, अब शादी के लिए चाहिए पांच लाख दहेज ।
 वर्ग-4 (सहयोगी/गार्ड) के पदों पर भर्ती, 23 दिसम्बर अंतिम तारीख ।

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।