बागेश्वर के कांडा क्षेत्र के एक गांव में एक नाबालिग की दुष्कर्म के बाद हत्या कर दी गई थी। पुलिस ने चार लोगों का डीएनए जांच को भेजा था। शनिवार को जांच रिपोर्ट आने के बाद आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। उसे अदालत में पेश करने के बाद जेल भेज दिया है।


नाबालिग बेटी के गर्भवती होने का पता चलने के बाद उसके ही पिता ने गला दबा कर उसकी हत्या कर दी थी। पुलिस मृतका के पिता को हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है। मृतका के गर्भवती होने पर पुलिस ने चार संदिग्धों का डीएनए जांच को भेजा। इसके कुछ दिनों बाद मृतका के दादा ने पहाड़ी से छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके बाद पुलिस की जांच का एंगल बदल गया और हत्याकांड ने नया मोड़ ले लिया। शनिवार को डीएनए रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने दुष्कर्म आरोपित शंकर को गिरफ्तार किया। उसे अदालत में पेश किया गया और जेल भेज दिया है।


के साथ रहती थी। गत 7 जुलाई को लड़की के गर्भवती होने की जानकारी परिजनों को मिली। जिसके बाद आपसी कहासुनी हुई और 8 जुलाई को नाबालिग की मौत हो गई थी। परिजनों ने लोकलाज के भय से उसका शव दफना दिया। पुलिस ने मृतका की माता की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ आइपीसी की धारा 376, 306 व पोक्सो अधिनियम 5(एल)/6 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। पुलिस ने दफन नाबालिग का शव निकाला और पोस्टमार्टम किया और दुष्कर्म के मामले का खुलासा हुआ।