दस-ग्यारह दिन से लापता ऋषिकेश के मायाकुंड निवासी एक व्यक्ति का शव पुलिस ने ऋषिकेश देहरादून मार्ग वन विभाग चौकी से आगे जंगल में झाड़ियों से बरामद किया है। बेहरहमी से हुई इस हत्या को हथोड़ो से अंजाम दिया गया। पुलिस ने इस मामले में मृतक की पत्नी उसके प्रेमी और दो अन्य साथियों को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया है। पुलिस ने हत्या मे प्रयुक्त हथोडा और दो मोटर साईकिल भी बरामद की है।


प्रेम संबंधों में बाधक पति की महिला ने अपने प्रेमी और उसके दो साथियों से हत्या कराई थी। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने बताया कि 25 सितंबर को कोतवाली ऋषिकेश में चंदा साहनी पत्नी जितेंद्र साहनी निवासी चंद्रेश्वर नगर ऋषिकेश के द्वारा एक गुमशुदगी के संबंध में प्रार्थना पत्र दिया। महिला ने बताया कि मेरा भाई अमरजीत साहनी पुत्र जीवन साहनी (32 वर्ष) 18 सितंबर की शाम तीन बजे अपने दो अन्य साथियों के साथ काम पर गया था, जो अभी तक वापस नहीं आया है, जबकि दोनों साथी वापस आ गए हैं।


युवक ने तहरीर में कहा कि साथियों और भाभी से भाई के बारे में पूछा तो वे कुछ भी नहीं बता रहे हैं। इसके बाद कोतवाली में गुमशुदगी पंजीकृत कर विवेचना प्रारंभ की गई। मामले में गठित टीम द्वारा गुमशुदा व्यक्ति के संबंध में परिवार जनों से पूछताछ की गई। जांच के दौरान यह जानकारी सामने आई कि गुमशुदा अमरजीत की पत्नी का गुमशुदा के साथी के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है। जिसकी जानकारी उसके पति को हो गई थी। पुलिस ने उसकी पत्नी और साथियों को थाने बुलाकर सख्ती से पूछताछ की तो गुमशुदा की पत्नी और अमरजीत के साथियों ने अमरजीत साहनी की हथोड़ा मार कर हत्या करने का अपराध स्वीकार किया। हत्या करने के बाद अमरजीत के शव को देहरादून रोड जंगलात बैरियर से आगे जंगल में झाड़ियों में छिपा दिया था, जिनकी निशानदेही पर गुमशुदा अमरजीत शव और हत्या में प्रयुक्त हथौड़ा घटनास्थल से बरामद कर लिया गया है।