सड़क निर्माण की मांग को लेकर सड़कों पर उतरे ग्रामीण ।

 



पिथौरागढ़ में मुश्किलों में जीवन यापन कर रहे है ग्रामीण। कांटेगाव से सेरी, विनायक, भटियानी, मेल्टी मंदिर तक सड़क निर्माण कार्य शुरू करने की मांग को लेकर क्षेत्रवासियों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन किया। सड़क के अभाव में ग्रामीणों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यातायात की सुविधा नहीं होने से ग्रामीणों को आज भी मरीजों, गर्भवती महिलाओं, वृद्धों को डोली के सहारे लाना-ले जाना पड़ता है।


सोमवार को चिन्हित राज्य आंदोलनकारी समिति के अध्यक्ष जगत सिंह मेहता के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने वर्ष 2006 में कांटेगांव से मेल्टी मंदिर तक 20 किमी सड़क को स्वीकृति मिली थी। जिसमें 10 किमी मार्ग को वित्तीय स्वीकृति भी मिल गई है। बावजूद इसके निर्माण कार्य अधर में लटका हुआ है। प्रदर्शन के बाद ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपकर अविलंब इस ओर उचित कार्रवाई करने की मांग की। इस मौके पर दिनेश सिंह, बब्बन सिंह आदि शामिल थे।


सड़क निर्माण कार्य शुरू करने की मांग को लेकर क्षेत्रवासियों ने जिला मुख्यालय पहुंचकर प्रदर्शन कर शीघ्र निर्माण कार्य शुरू नहीं करने पर उग्र आंदोलन की धमकी दी। वर्ष 2006 से 2020 तक सड़क निर्माण का कार्य लटका होने से ग्रामीणों में बहुत नाराजगी है। आए दिन ग्रामीणों को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। बीमार व्यक्तियों को पगडण्डी के सहारे हस्पताल पहुंचाने के लिए मजबूर नजर आते हैं ग्रामीण ।

(BDO) Block Development Officer Vacancy Uttarakhand 2020
Uttarakhand Education Department- 658 Vacancies
अगस्तमुनि से रुद्रप्रयाग जा रही बोलेरो हादसे का शिकार, सड़क पर ही पलट गई गाड़ी ।
श्रीनगर गढ़वाल में यूटिलिटी चालक ने स्कूटी सवार को कुचल डाला, युवक की मौत ।
कर्णप्रयाग में बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत दूसरा गम्भीर रूप से घायल ।
 वर्ग-4 (सहयोगी/गार्ड) के पदों पर भर्ती, 23 दिसम्बर अंतिम तारीख ।
पाकिस्तान की गोलाबारी में ऋषिकेश के राकेश डोभाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल ।
कॉलेज की छात्रा से किया शादी वादा फिर तीन साल बनाए शाररिक सम्बन्ध, अब शादी के लिए चाहिए पांच लाख दहेज ।
PMGSY RECRUITMENT 2020 UTTARAKHAND
मैक्सजीप खाई में जा गिरी, दो लोगों की मौके पर मौत ।

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।