शादी का झांसा देकर एंबुलेंस चालक ने उससे चार साल तक दुष्कर्म किया। इतना ही नहीं, उससे तीन लाख रुपये भी हड़प लिए। बाद में दूसरी लड़की से शादी कर ली। नर्स के विरोध करने पर उसके भाईयों ने जान से मारने की धमकी दी। कोर्ट के आदेश पर ज्वालापुर कोतवाली में तीनों भाईयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।


हरिद्वार जिले के ज्वालापुर स्थित एक सरकारी अस्पताल में तैनात नर्स से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक नर्स ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर बताया कि वर्ष 2016 से एंबुलेंस चालक जीशान उर्फ आफताब निवासी राम रहीम कॉलोनी ज्वालापुर अक्सर एंबुलेंस लेकर अस्पताल आता रहता था। मोबाइल नंबर लेकर बातचीत करने के दौरान एंबुलेंस चालक ने उसे शादी का झांसा दिया। इसके बाद सिडकुल की नवोदय नगर कॉलोनी में उसे किराए पर कमरा लेकर दिया और शारीरिक संबंध बनाता रहा। इस दौरान तीन लाख रुपये भी हड़प लिए। 


नर्स ने आरोप लगाया कि कोरोना काल में 24 घंटे डयूटी में रेस्ट के दौरान भी वह उसे रोशनाबाद कमरे पर ले गया और शारीरिक संबंध बनाए। कुछ दिन पहले उसने शादी कर ली। नर्स ने विरोध किया तो उसने पत्नी से तलाक लेने का वादा किया, लेकिन उसका मानसिक और शारीरिक शोषण करता रहा। आरोप है कि 12 जून को आरोपित जीशान के भाई सलमान और फरमान ने सरकारी आवास पर पहुंचकर उसे धमकाया कि समुदाय अलग होने के कारण उनका भाई शादी नहीं कर पाएगा। पुलिस में शिकायत करने पर आरोपित उसे शादी के बहाने कोर्ट ले गया और धोखे से कोरे कागज पर हस्ताक्षर कराए। कोर्ट ने तीनों भाईयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। ज्वालापुर कोतवाल प्रवीण कोश्यारी ने बताया कि आरोपित जीशान उर्फ आफताब, फरमान और सलमान निवासीगण राम रहीम कॉलोनी ज्वालापुर के खिलाफ दुष्कर्म, धोखाधड़ी, धमकी आदि धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।