भाजपा विधायक महेश नेगी की तबीयत अचानक खराब हो गई। और इस बात की जानकारी भी स्वयं ही महेश नेगी ने सोशल मीडिया के माध्यम से दी है। यौन उत्पीड़न के मामले में विधायक पर पुलिस का शिकंजा कसता जा रहा है। माना जा रहा है कि पुलिस कभी भी उन्हें गिरफ्तार कर सकती है। इससे बचने के लिए विधायक ने नाय पैंतरा अपनाया है।

अल्मोड़ा जिले की एक महिला से दुष्कर्म और उसके बच्ची का पिता होने के आरोपों से घिरे द्वाराहाट के भाजपा विधायक महेश नेगी ने रविवार को अपने फेसबुक अकाउंट पर एक पोस्ट जारी कर अस्पताल में भर्ती होने की जानकारी दी। विधायक ने मुख्यमंत्री को लिखा एक पत्र भी अपने फेसबुक अकाउंट पर पोस्ट किया है। पत्र में कोरोना महामारी के कारण लंबित उनकी विधानसभा क्षेत्र के कुछ सड़कों के निर्माण का मुख्यमंत्री से अनुरोध किया गया है। बता दें कि, पीड़ि‍ता के मजिस्ट्रेटी बयान व मसूरी के होटल से साक्ष्य जुटाने के बाद भाजपा विधायक महेश नेगी की गिरफ्तारी पर भी तलवार लटक रही है।


महिला का आरोप है कि विधायक नेगी ने नेपाल, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, देहरादून और हल्द्वानी में भी डरा-धमकाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। महिला, विधायक नेगी को अपनी बच्ची का पिता बताकर डीएनए टेस्ट करवाने की भी मांग कर रही है। आपको बता दें की महिला के बताए अनुसार मसूरी होटल में विधायक के नाम कमरा बुक मिला और यह भी स्पष्ट हो चुका है की उस दिन पीड़ित महिला ही आरोपित के साथ थी । इस पूरे मामले पर भाजपा चुप है और विधायक बचने के लिए नए - नए पैंतरे अपना रहा है। अब देखना है कि पुलिस इस मामले पर निष्पक्ष जांच करेगी या सत्ता के दबाव में रहकर महेश नेगी को गिरफ्तार करने से बचेगी ।