उत्तराखंड में आत्महत्या के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं । बीते चार माह में 400 से अधिक लोगों ने अलग अलग कारणों से मौत को गले लगा लिया। ताजा मामला बागेश्वर जिले के कांडा क्षेत्र में एक युवक ने फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली है। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कर उसे परिजनों को सौंप दिया है। घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पुलिस घटना की जांच में जुट गई है। आत्महत्या के कारणों का अभी तक कोई पता नहीं चल सका है।

सोमवार की रात किसी समय सानिउडियार गांव निवासी प्रकाश चंद्र भट्ट (42) पुत्र चंद्रबल्लभ भट्ट ने घर के भीतर बल्ली में रस्सी डालकर फांसी का फंदा लगा लिया। परिजनों के अनुसार वह पिछले कई दिनों से परेशान था। घटना की जानकारी परिजनों को सुबह मिली और उसे फंदे पर लटकता देख वे हैरान हो गए। उन्होंने तत्काल पुलिस को सूचना दी। एसओ कांडा प्रहलाद सिंह दलबल के साथ घटना स्थल पहुंचे। उन्होंने रस्सी से युवक के शव को नीचे उतारा और पंचनामा किया। युवक की पत्नी हेमा देवी ने बताया कि उनके तीन बच्चे हैं। उनका पति लॉकडाउन के बाद बेरोजगार था और घर में ही रहता था। उन्होंने कहा कि पति के चले जाने के बाद उनके सामने आर्थिक संकट पैदा हो गया है। घटना के बाद परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष हरीश ऐठानी ने पीड़ित परिवार को आर्थिक मदद देने की मांग सरकार से की है। उधर, थानाध्यक्ष ने कहा कि घटना की सभी कोणों से जांच की जा रही है। आत्महत्या के कारण अभी अज्ञात हैं और किसी के तरफ से तहरीर भी नहीं आई है।