मांगें पूरी ना होने से आइटीआइ कर्मचारी संघ ने सरकार को आंदोलन की चेतावनी दी है। 10 सितंबर तक आइटीआइ के आठ सौ कर्मचारी काली पट्टी बांधकर विरोध करेंगे। उन्होंने आोप लगाया कि उनकी मांगों पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है? संघ के प्रांतीय अध्यक्ष राजेंद्र प्रकाश जोशी ने बताया कि आइटीआइ कर्मचारी की छह सूत्रीय मांगों पर लंबे समय से कोई ध्यान नहीं दिया गया है। उनका कहना है कि कर्मचारी संघ ने इस संबंध में विभाग के निदेशक को बीते 19 अगस्त को ज्ञापन सौंपा था, लेकिन उन्हें कोई आश्वासन नहीं मिला, जिसे विरोध में 22 अगस्त से असहयोग आंदोलन शुरू किया गया।

उन्होंने कहा अब अगर शासन नहीं माना तो कर्मचारियों ने आइटीआइ दाखिले में सहयोग नहीं करने का निर्णय लिया। जिस पर विभाग के निदेशक ने कर्मचारी संघ को 27 अगस्त को फिर से वार्ता के लिए बुलाया। लेकिन इस दौरान संघ प्रतिनिधिमंडल की निदेशक से मुलाकात नहीं हो पाई। आइटीआइ कर्मचारी संघ के महामंत्री पंकज सनवाल ने बताया कि ज्ञापन में शासन को 10 सितंबर तक का समय दिया गया है। अगर इस अवधि तक मांगों पर सकारात्मक कार्रवाई नहीं की गई तो वे 11 सितंबर से आंदोलन शुरू कर देंगे।