माननीय कोर्ट के आदेश के बाद महिला ने देहरादून नेहरू कॉलोनी थाने में एक-एक कर बीजेपी विधायक के ठरकीपने का खुलासा करते हुए बताया कि पिछले साल नौ जुलाई को विधायक महेश नेगी इटली से वापस लौटने के बाद 10 जुलाई को रुद्रपुर आए। इसके बाद वह महिला को धमकाकर जबरदस्ती अपने साथ दिल्ली ले गए। मुकदमे में आरोप लगाया गया है कि विधायक ने दिल्ली के सम्राट होटल में महिला के साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाए।

विधायक 11 जुलाई को हवाई जहाज से देहरादून आए और फिर यहां एमएलए हॉस्टल के कमरा नंबर 62 में ठहरे। यहां एक बार फिर उससे दुष्कर्म किया। गतवर्ष 19 सितंबर को अल्मोड़ा में बिनसर के महेंद्रा क्लब में भी दुष्कर्म किया गया। इसके बाद विधायक उसे अपने साथ नेपाल के महेंद्रनगर भी लेकर गए।

जब बीजेपी विधायक की अय्याशियों से महिला गर्भवती हुई तो विधायक खुद चिकित्सकीय जांच के लिए उसे दून के सिनर्जी अस्पताल में ले गए। महिला का आरोप है कि विधायक के शारीरिक संबंध बनाने से वह गर्भवती हुई। महिला हाल में दून में अपने भाई के यहां रह रही है। महिला ने विधायक और अपनी बेटी का डीएनए मिलान की मांग फिर दोहराई है। लेकिन राज्य की त्रिवेंद्र रावत सरकार 2022 के चुनाव को लेकर निष्पक्षता से जांच नही करवा रही है।


विधायक ने ससुराल में भी नही छोड़ा:- महिला ने आरोप लगाया है कि शादी के बाद विधायक ने फोन कर बार-बार दबाव बनाया और उसे वापस मायके बुला लिया। आरोप है कि इसके बाद उन्होंने अलग-अलग स्थान पर ले जाकर शारीरिक संबंध बनाए। आरोप है कि विधायक ने महिला की तरफ से उसके पति और ससुराल वालों के खिलाफ घरेलू हिंसा का मुकदमा दर्ज करवा दिया। महिला ने तहरीर में कहा कि विधायक से संबंध का जब उसके ससुराल वालों का पता लगा तो उन्होंने भी संबंध तोड़ लिए।