युवती को बंधी बनाकर 15 दिन तक किया यौन उत्पीड़न, मारडालने का भय दिखाकर करते रहे यौन शोषण।

 

रायपुर क्षेत्र की एक युवती का कुछ लोगों ने अपहरण कर उसके साथ जबरन दुष्कर्म किया। पीड़िता कि माँ का कहना है कि आरोपी ने अपने रिश्तेदारों के साथ मिलकर उनकी बेटी का अपहरण किया और 15 दिनों तक उसका यौन शोषण किया गया। आरोप युवती को 'जैसा कहा है वैसा करो वरना तुम्हें मारकर नदी में फैंक दूंगा' इत्यादि धमकी देकर युवती का यौन उत्पीड़न करता रहा।


पीड़िता की मां ने तहरीर में कहा है कि बीती 20 अगस्त को उनकी बेटी अचानक घर से लापता हो गई। काफी तलाश करने पर भी उसकी कोई जानकारी नहीं मिली तो पुलिस से शिकायत की गई। इसके बाद भी उसका कुछ पता नहीं चल सका। चार सितंबर की शाम उनकी बेटी बदहवाश हालत में घर पहुंची। वह सहमी हुई थी और लगातार रो रही थी। परिजनों के बहुत बार पूछने पर युवती ने पूरी आपबीती सुनाई। उसने बताया कि 20 अगस्त को ऋषिकेश स्थित काले की ढाल, सपेरों वाली गली में रहने वाला टोनी उसे रायपुर रोड स्थित गुरुद्वारे के पास मिला था। टोनी के साथ कार में दो लड़के और भी थे। टोनी ने उसे बहला-फुसलाकर कार में बैठा लिया और ऋषिकेश ले गया। वहां युवक और उसके साथियों ने युवती की पिटाई भी की। उन्होंने कहा कि जैसा हम कहते हैं, वैसा करो वरना मारकर नदी में फेंक देंगे।


फिर टोनी उसे विकासनगर के एक होटल में ले गया और वहां उसके साथ दुष्कर्म किया। अगले दिन युवक ने अपने जीजा बीनू, बहन रानो और बल्लू को भी बुला लिया। इसके बाद युवती को कालसी स्थित एक मंदिर ले जाया गया, जहां टोनी से जबरन उसकी शादी करा दी गई। इतना ही नहीं टोनी और उसके परिवार ने युवती को घर में बंधक बनाकर रखा हुआ था। मां की तहरीर पर रायपुर थाना पुलिस ने आरोपित युवक, उसकी दो बहनों और बहनोई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।


यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।