बागेश्वर के रहने वाले 40 वर्षीय पुरुष, सिडकुल के कर्मचारी ने किराए के कमरे में गमछे से फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। इसका पता चलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया है। पुलिस के मुताबिक आत्महत्या के कारणों की जांच की जा रही है। मूलरूप से ग्राम डाक, पोस्ट कपकोटी, गरुड़, बागेश्वर निवासी 40 वर्षीय उमेश सिंह रावल पुत्र हीरा सिंह सिडकुल की एक कंपनी में काम करता था। 


मृतक मुखर्जीनगर में पत्नी राधा देवी और तीन बच्चों के साथ किराए में रहता था। बताया जा रहा है कि दो-तीन दिन पहले उन्होंने किराए का कमरा दूसरी जगह शिफ्ट कर दिया था। मुखर्जीनगर स्थित कमरे में सामान था, इसलिए उमेश वहीं रह रहा था, जबकि पत्नी और बच्चे दूसरे कमरे में रह रहे थे। रविवार शाम को उमेश कमरे में अकेला ही था। इसी बीच उसने अज्ञात कारणों के चलते गमछे का फंदा बनाकर आत्महत्या कर ली। शाम सात बजे के आसपास जब उसका पुत्र सचिन कमरे में गया तो पिता को लटका देख होश उड़ गए। शोर होने पर आसपास के लोग एकत्र हुए और पुलिस को सूचना दी। मौके पर एसआई अर्जुन गिरी गोस्वामी पुलिस कर्मियों के साथ पहुंचे और जानकारी ली। साथ ही शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। उमेश की मौत से पत्नी और बच्चों के अलावा अन्य परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। एसआई अर्जुन गिरी ने बताया कि मृतक के पास से सुसाइड नोट भी नहीं मिला है, आत्महत्या के कारणों की जांच की जा रही है।