कोरोना काल में दशोली ब्लॉक के कठूड़ गांव में 12वीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए निबंध प्रतियोगिता आयोजित की थी। लॉकडाउन के दौरान आयोजित निबंध प्रतियोगिता में अव्वल रहे प्रतिभागियों को पुरस्कार वितरित किए गए। गढ़वाली में आयोजित ऑनलाइन इस निबंध प्रतियोगिता में कोरोना से बचाव, स्वच्छता सहित अन्य सुझाव मांगे गए थे। ऑनलाइन निबंध प्रतियोगिता में प्राथमिक स्तर पर सृष्टि बिष्ट प्रथम, पावनी रौतेला द्वितीय, अंशिका बिष्ट तृतीय स्थान पर रहे। इंटर स्तर पर दिव्या बिष्ट प्रथम, अंशिका बिष्ट द्वितीय, जतिन रौतेला तृतीय स्थान पर रहे।


गांव में एक समारोह में अव्वल रहे छात्र छात्राओं को ब्लाक प्रमुख दशोली विनीता देवी के हाथों पुरस्कृत किया गया। गांव में कोरोना से बचाव के लिए नुक्कड़ नाटक का आयोजन भी किया गया। इस कार्य से बच्चों में जागरूकता से कोरोना पर रोकथाम में सहायता तो मिली ही, साथ ही बच्चों में क्षेत्रीय भाषा को लेकर उत्साहवर्धन भी हुआ । उत्तराखंड की क्षेत्रीय भाषाओं को राजभाषा का दर्जा मिल सके इस पर दो चार दिन तो राजनीतिक गलियारों में होहल्ला रहा लेकिन अब बात ठंडे बस्ते में पड़ गई है। उत्तराखंड की क्षेत्रीय भाषाओं पर काफी समय से संकट गहराता जा रहा है । लेकिन इस ओर किसी का ध्यान केंद्रित नही है, ऐसे में गढ़वाली निबंध प्रतियोगिता का होना काफी सराहनीय कार्य है।