देहरादून, नौवीं कक्षा में पढ़ने वाले 14 वर्षीय बेटे की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। पढ़ाई को लेकर डांट से क्षुब्ध होकर बच्चे ने फांसी लगाकर आत्महत्या की। जबकि पुलिस के मौके पर पहुंचने से पहले परिजनों ने उसका अंतिम संस्कार कर दिया। क्लेमनटाउन थाना प्रभारी नरोत्तम बिष्ट ने बताया कि क्षेत्र निवासी सरकारी विभाग में अधिकारी शुक्रवार सुबह ड्यूटी पर जाने की तैयारी कर रहे थे, जबकि उनका 14 वर्षीय बेटा कमरे में था। पत्नी छोटे बच्चे संग मौजूद थी।

सुबह नौ बजे के करीब ऑनलाइन क्लास को लेकर अफसर ने बेटे को डांट दिया। इससे क्षुब्ध होकर बच्चे ने कमरे में जाकर पंखे के सहारे फांसी लगा ली। करीब साढ़े 11 बजे बच्चे की मां को घटना के बारे में जानकारी मिली। महिला के शोर मचाने पर आसपास के लोग वहां पहुंच गए।

जिसके बाद बच्चे को हस्पताल ले जाया गया । जहां चिकित्सकों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। थाना प्रभारी ने बताया कि घटना शुक्रवार सुबह की है। पुलिस को देर शाम इस बारे में जानकारी मिली। छात्र कक्षा 9वीं में पढ़ता था। छात्र के पिता सरकारी विभाग में अधिकारी हैं। अब पुलिस पूरे प्रकरण की बारीकी से जांच कर रही है ।