शनिवार को धैना ग्रामसभा ( नैनीताल के ओखलकांडा ब्लॉक ) में सरपंच हरीश सिंह की पत्नी खिमुली देवी (45) को तेंदुए ने अपना शिकार बना लिया। परिजन घायल हालत में महिला को अस्पताल लेकर जा रहे थे, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। तेंदुओं के हमलों में चार दिन में तीन लोगों की मौतों से ग्रामीणों में दहश्त है।

शनिवार दोपहर दो बजे खिमुली देवी अपने 10 साल के बेटे को लेकर घास काटने घर के पास के खेत पर गई थी। इस दौरान खेत में घात लगाए तेंदुए ने खिमुली पर हमला कर दिया। तेंदुए को हमला करता देख बेटे ने घर पहुंचकर परिजनों और ग्रामीणों को बताया। परिजनों और ग्रामीणों ने मौके पर पहुंचकर शोर मचाया तो तेंदुआ महिला को घायल कर जंगल की ओर भाग निकला। परिजन घायल हालत में महिला को अस्पताल लेकर जा रहे थे, लेकिन उसने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। वन विभाग ने मृतका के परिजनों को 25 हजार की आर्थिक सहायता राशि दे दी है। शेष धनराशि भी जल्द दे दी जाएगी।

ओखलकांडा ब्लॉक में तेंदुओं के हमलों में तीन मौतों से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है तो वहीं, जनप्रतिनिधियों में वन विभाग के लिए आक्रोश है। पूर्व विधायक दान सिंह भंडारी ने कहा कि वन विभाग की लापरवाही के चलते तेंदुओं के हमले बढ़ रहे हैं। अब तक वन विभाग तेंदुए को आदमखोर घोषित नहीं कर पाया है। उन्होंने तीन दिन के भीतर तेंदुए के नहीं पकड़े जाने पर डीएफओ और कंजरवेटर कार्यालय में धरने प्रदर्शन की चेतावनी दी है।