पुलिस ने रविवार को पीड़ित का मेडिकल करवाया, जिसमें महिला में न तो बाहरी और न ही अंदरूनी चोट के निशान मिले है। शरीर पर भी संघर्ष के निशान नहीं है। मेडिकल रिपोर्ट में दुष्कर्म की भी पुष्टि नहीं हुई है।


आपको बता दें कि शनिवार रात को महिला ने सहसपुर थाने में तहरीर दी थी की उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया है। मामले की गम्भीरता को समझते हुए पुलिस ने रविवार को महिला का मेडिकल करवाया जिसमे दुष्कर्म होने की पुष्टि नही हुई है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि दुष्कर्म के बाद आरोपितों ने काफी देर तक उसे रोके रखा। इसी वजह से वो थाने भी देर से पहुची। महिला के स्वजन भी देर रात थाने पहुंच गए थे।


पुलिस अब इस बात का पता लगा रही है कि पीड़िता जो घटनास्थल और समय बता रही है वो उस स्थान पर बताए गए समय पर थी या नहीं। इसके लिए पुलिस बताए गए घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगाल रही है। वहीं, सूत्रों के मुताबिक पीड़िता के पिता ने मेडिकल टीम के समक्ष दिए बयान में कहा है कि उसकी बेटी के साथ कोई घटना नही हुई है। वह मानसिक रूप से बीमार है और उसका इलाज चल रहा हैं। फिलहाल पुलिस घटना की संवेदनशीलता को देखते हुए सभी पहलुओं की जांच कर रही है।