हल्द्वानी, रामपुर प्रापर्टी डीलर ने लाइसेंसी बंदूक से खुद को गोली मार ली। जबकि पत्नी ने जहर पीकर खुदकुशी कर ली थी। दोनों के शव घर के सोफे पर अगल-बगल पड़े मिले। दिनदहाड़े दंपती के खुदकुशी करने की घटना ने पूरे शहर को इसी विषय की चर्चा हो रही है। रामपुर रोड पर मुनगली गार्डन के समीप आरके गार्डन निवासी चंद्र प्रकाश श्रीवास्तव(50) पुत्र भगवानदास श्रीवास्तव प्रापर्टी डीलिंग का कारोबार करते थे।

चन्द्र प्रकाश बिल्डिंग के पहले माले पर रहते थे जबकि उनके अन्य भाई ग्राउंड फ्लोर पर रहते हैं। रविवार को दोपहर करीब डेढ़ बजे ग्राउंड फ्लोर से मां सन्नो देवी खाना लेने चंद्र प्रकाश के कमरे में गयी। वहां बेटा चंद्र प्रकाश और बहू दीपा सोफे पर पड़े थे। सन्नो देवी ने नीचे आकर पति भगवानदास को इसकी जानकारी दी। भगवानदास ने ऊपर जाकर देखा तो हो-हल्ला मचाया। शोर सुनकर परिवार के लोग व पड़ोसी एकजुट हो गए। घटना का पता लगते ही पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। 

कोतवाल संजय कुमार ने बताया कि चंद्र प्रकाश ने सोफा में बैठकर अपनी लाइसेंसी बंदूक से नाल गले के पास रखकर गोली मारी थी। जबकि दीपा ने जूस में मिलाकर नुवान पीया था। दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मकान के जिस हिस्से में दंपती रहता था, उसे सीज कर दिया गया है। दोनों के खुदकुशी करने के कारणों की जांच शुरू कर दी गयी है। बंदूक से एक चला कारतूस व दो जिंदा कारतूस मिले हैं। बंदूक व कारतूस के साथ ही दंपती के मोबाइल, नुवान की खाली शीशी और कुछ दस्तावेज कब्जे में लिए हैं।