उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा है कि इस साल के अंत तक कोरोना की वैक्सीन राज्य में आ जाएगी। प्रदेशवासियों तक इस वैक्सीन को पहुंचाने के लिए कार्य शुरू कर दिया गया है। उन्होनें कहा, कार्य के विषय में हर 15 दिन में समीक्षा बैठक भी की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने पहाड़ में स्वास्थ्य सुविधाओं के बुरे हाल अपनी आंखों से देखे हैं। उनकी नजरों के सामने तमाम ऐसे वाकये हुए हैं, जब इलाज न मिलने की वजह से लोगों की जान चली गई। इसलिए उन्होंने स्वास्थ्य सेवाओं को अपनी प्राथमिकता में रखा हुआ है।


बृहस्पतिवार को एचएनबी मेडिकल विश्वविद्यालय के तीसरे दीक्षांत समारोह में पहुंचे सीएम रावत ने कहा कि यह साल कोरोना की वजह से सभी के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण रहा है। उन्होंने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन सिंह ने इस साल के अंत तक या नए साल की शुरुआत में कोरोना वैक्सीन आने के संकेत दिए हैं। राज्य में एक साथ एक करोड़ वैक्सीन तो नहीं मिल पाएंगी, लेकिन वैक्सीन को सभी लोगों तक पहुंचाने के लिए कवायद शुरू कर दी गई है। अभी तक के लिए हिसाब से फ्रंट लाइन पर कोरोना से लड़ रहे वॉरियर्स को यह वैक्सीन देने की योजना है। समारोह में पहुंचे स्वास्थ्य सचिव अमित नेगी ने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य को रोडमैप तैयार करने के लिए निर्देश दिए हैं। किस तरह से वैक्सीन दी जाएगी। इसके लिए हर 15 दिन में समीक्षा की जाएगी।