सड़क सुविधा के अभाव में पलायन से खाली हुआ गाँव, उत्तराखंड में सरकारों ने समय पर नही पहाड़ी क्षेत्र पर ध्यान ।

 


20 वर्ष पूर्व तक यहां 25 परिवार स्थाई रूप से निवास करते थे, लेकिन अब पूरा गांव खंडहर हो गया है। यह तस्वीर चम्पावत में ग्राम पंचायत पऊ का घांघला गांव की है जो आज कुछ खण्डरहों के साथ अव्यवस्थाओं की यादें भर बनकर रह गया है । इसी गांव से लगे सिमल तोक में भी गिने चुने परिवार रह गए हैं। गांव खाली होने से खेत खलिहान भी बंजर हो गए हैं, जिससे लोगों के रोजगार के साधनों पर भी ताला लग गया है।


विकास खंड के गल्लागांव के लिए लोनिवि द्वारा सड़क स्वीकृत की गई थी। सड़क के एलाइमेंट से पूर्व ही कुछ ग्रामीणों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। उन्होंने भूमि कटने के एवज में मुआवजा देने की मांग रख दी। गलचौड़ा से भीडू तोक तक तीन किमी सड़क कटने के बाद लोनिवि ने सड़क काटने का काम रोक दिया। इधर सड़क न होने से घांघला गांव पूरी तरह खाली हो गया है तो सिमल गांव में रहने वाले 15 परिवारों में से 12 परिवारों ने पलायन कर लिया है, लेकिन इस गांव में अभी भी माल्टा, संतरा, बड़ी इलायची, आंवला की खेती बड़े पैमाने पर हो रही है। सड़क सुविधा के अभाव में काश्तकारों को अपनी मेहनत का उचित लाभ नहीं मिल पा रहा है। बाजार न मिलने से लोगों ने गहत, मसूर, उड़द की खेती करना छोड़ दिया है। ग्रामीणों का कहना है कि घांघला गांव की जमीन काफी उपजाऊ है। यहां सिंचाई के लिए पानी की भी कोई समस्या नहीं है। सड़क बनती है तो लोग एक बार फिर गांव में बसकर खेती करना शुरू कर देंगे। ग्रामीण फसल, फल और दालों का उत्पादन कर अपनी आजीविका का साधन मजबूत कर सकते हैं।


विभाग के जेई चंद्रशेखर मुरारी ने बताया कि ग्रामीणों के विरोध के बाद गलचौड़ा-गल्लागांव सड़क का काम रोकना पड़ा था। विभाग ने पंचायत प्रतिनिधियों से निरापत्ति प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने को कहा है। निरापत्ति प्रमाण पत्र मिलने के बाद सड़क का काम शुरू किया जा सकता है। फिलहाल भूमि कटने पर मुआवजे का प्रावधान इस सड़क पर नहीं किया गया है। जबकि ग्रामीणों का कहना है कि विभाग से सड़क निर्माण में आ रही लोगों की जमीन का मुआवजा देने की मांग की गई है। विभाग मुआवजा देने को तैयार होता है तो ग्रामीण अपनी जमीन देने को तैयार हैं।


(BDO) Block Development Officer Vacancy Uttarakhand 2020
Uttarakhand Education Department- 658 Vacancies
अगस्तमुनि से रुद्रप्रयाग जा रही बोलेरो हादसे का शिकार, सड़क पर ही पलट गई गाड़ी ।
श्रीनगर गढ़वाल में यूटिलिटी चालक ने स्कूटी सवार को कुचल डाला, युवक की मौत ।
कर्णप्रयाग में बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत दूसरा गम्भीर रूप से घायल ।
पाकिस्तान की गोलाबारी में ऋषिकेश के राकेश डोभाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल ।
PMGSY RECRUITMENT 2020 UTTARAKHAND
 वर्ग-4 (सहयोगी/गार्ड) के पदों पर भर्ती, 23 दिसम्बर अंतिम तारीख ।
कॉलेज की छात्रा से किया शादी वादा फिर तीन साल बनाए शाररिक सम्बन्ध, अब शादी के लिए चाहिए पांच लाख दहेज ।
वन मंत्री हरक सिंह रावत के बुरे दिन, तीन माह की हुई सजा ।

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।