खुनौली गाव की एक किशोरी पर गुलदार ने दिनदहाड़े हमला कर दिया । किशोरी ने हिम्मत दिखाते हुए गुलदार का सामना कर उसे भागने पर मजबूर कर दिया। जख्मी हालत में किशोरी की सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र काडा लाया गया। जहा उसका उपचार चल रहा है। दिनदहाड़े गुलदार के हमले से गाव में दहशत का माहौल है। ग्रामीणों ने विभाग से गाव में पिंजड़ा लगाने और किशोरी के इलाज के लिए मुआवजा देने की माग की है।


खुनौली गाव की 14 साल की किशोरी करीना अपने साथियों के साथ चारा पत्ती लेने जंगल गई थी। मंगलवार सुबह 11 बजे के करीब जंगल में गुलदार ने उस पर अचानक हमला कर दिया। उसने हिम्मत दिखाई और शोर मचाते हुए गुलदार का सामना करने लगी। उसकी आवाज सुनकर साथियों ने भी हल्ला मचाना शुरू कर दिया। अचानक हुए शोरगुल से गुलदार उसे छोड़कर भाग खड़ा हुआ। हालाकि इस बीच वह किशोरी को जख्मी कर चुका था। जिसे साथी काडा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे।


केंद्र के प्रभारी डॉ. हरीश पोखरिया ने बताया कि दोपहर में गुलदार के हमले में घायल एक किशोरी इलाज को केंद्र में आई थी। जिसका डॉक्टर उपचार कर रहे हैं। इधर कनिष्ठ प्रमुख सहित परिजनों ने पीड़िता के इलाज के लिए मुआवजा देने की माग की है। इधर फोरेस्टर पूरन सिंह कार्की ने बताया कि किशोरी को गुलदार ने पंजा मारा है। जिसके चलते वह घायल हुई है।