ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग जा रहे वाहन में बैठे एक युवक ने श्रीनगर जलविद्युत परियोजना झील में फरासू के समीप वाहन से उतर कर मंगलवार को छलांग लगा दी । प्राप्त जानकारी के अनुसार व्यक्ति मानसिक रूप से परेशान था। पुलिस एवं जल पुलिस द्वारा राफ्ट के माध्यम से व्यक्ति को झील में काफी खोजा, किंतु गहरी झील में व्यक्ति डूब जाने के कारण उसका देर सांय तक सुराग नहीं लग पाया।


नदी में छंलाग लगाने वाला महेन्द्र बुटोला पुत्र सते सिंह बुटोला ग्राम बस्ता तिमली अगस्त्यमुनि रुद्रप्रयाग उम्र 42 वर्ष का था। बताया जा रहा है कि व्यक्ति द्वारा पीठ में बैग लगाए हुए था। फरासू पुराने हनुमान मंदिर के समीप एक व्यक्ति द्वारा नदी में छलांग मराने की सूचना लगते ही श्रीनगर से तहसीलदार सुनील राज, सीओ एसडी नौटियाल, कोतवाल मनोज रतूड़ी मयफोर्स मौके पर पहुंचे।


नदी में छलांग मारने पर उसका बैग नदी में काफी देर तक तैरता रहा, किंतु थोड़ी देर बाद व्यक्ति बैग के साथ नदी की झील में डूब गया। जल पुलिस ने राफ्ट के माध्यम से व्यक्ति का झील में काफी खोजबीन की, किंतु उसका कोई पता नहीं चल पाया। जिसे उसके भाई ने ऋषिकेश से रुद्रप्रयाग अगस्त्यमुनि के लिए वाहन में बैठाया था। किंतु वह श्रीनगर के पास फरासू में वन-वे के समय वाहन रुकने पर वाहन से उतरा और सीधे नदी में छलांग लगा दी।