कैसा न्याय है देश में, घर का अकेला बेटा सीमा पर देश की जमीन की रक्षा में खड़ा है और गाँव में माता-पिता की जमीन की रक्षा के लिए स्थानीय प्रशासन भी आंखे बन्द किये हुए है । देवीदयाल सिंह का पुत्र रवीन्द्र सिंह वर्तमान में पांचवीं गढ़वाल राइफल रेजीमेंट में कार्यरत है, तथा वही आजकल राजस्थान बार्डर पर देश की रक्षा कर रहा है, लेकिन वर्तमान में उसके माता पिता भूमि विवाद के चलते न्याय के लिए दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है।


भाबर क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम तेलीबाडा निवासी देवीदयाल अपनी पत्नी के साथ भूमि सम्बधी विवाद को निबटारे की मांग को लेकर विगत कई दिनो से तहसील परिसर में धरना दे रहे है, पीड़ित देवीदयाल सिंह एवं पत्नी श्रीमती रामेश्वरी देवी का कहना है कि उनकी ग्राम तेलीबाडा स्थित निजी भूमि पर राजस्व विभाग के कर्मचारियों के द्वारा भूमाफियाओं के दबाव में आकर गलत नाप जोख कर उनके खेत में ही जबरदस्ती लोहे के एंगिल गाड़ दिये है, तथा विरोध करने के बाद भी उसके खेत में जगदीश सिंह ने डीपीसी की पक्की दीवार बना दी है।


इसके अलावा भूमि को लेकर विवाद पैदा करने वाले जगदीश भी मारपीट पर उतारू हो रखा है, जगदीश सिंह भूमाफियाओं के बहकावे में आकर जान से मारने की भी धमकी दे रहा है, पीड़ित देवीदयाल सिंह ने कहा कि भूमि विवाद के निबटारे को लेकर वे विगत कई दिनों से तहसील परिसर में धरना दे रहे है, लेकिन तहसील प्रशासन के द्वारा भी उनकी समस्या का समाधान नहीं किया जा रहा है।