दुगड्डा (पौड़ी) में कार हुई हादसे का शिकार, एक की मौत बाकी सवार घायल ।


 

घटना शुक्रवार सुबह की बताई जा रही है, दिल्ली से आ रही कार DL ICAA 7830 हादसे का शिकार हो गई । दुगड्डा से 5km आगे गुमखाल पौड़ी मार्ग पर सुबह 5 बजकर 40 मिनट पर कार खाई में जा गिरी ।

कोटद्वार स्थित SDRF टीम रेस्कयू हेतु टीम हेड कॉन्स्टेबल गब्बर सिंह के नेतृत्व में तत्काल घटना स्थल को रवाना हुई ,घटना में एक व्यक्ति मृत, एक महिला सहित दो व्यक्ति गम्भीर घायल हुए थे जबकि 04 व्यक्तियों को सामान्य चोट लगी थी।

गम्भीर घायलों को एम्बुलेंस तथा सामान्य घायलों को SDRF द्वारा अपने वाहन से कोटद्वार चिकित्सालय भेजा गया ।मृतक के शव को टीम द्वारा बरामद कर सिविल पुलिस के सुपर्द किया गया। सभी लोग दिल्ली से अपने घर ग्राम चरगाड़ पोस्ट श्रीकोट ब्लॉक पोखड़ा आ रहे थे ।

मृतक अनिल बुडाकोटी पुत्र स्व0 केशवानंद बुडाकोटी उम्र 50 वर्ष के रूप में पहचान हुई है । जबकि घायलों में अशोक कुमार पुत्र केशवानंद बुडाकोटी उम्र 41 श्रीमती रजनी देवी पत्नी अनिल बुडाकोटी उम्र 45 रमेश बुडाकोटी पुत्र महेशा नन्द बुडाकोटी उम्र 42 प्रशांत बुडाकोटी पुत्र चंद्रप्रकाश बुडाकोटी उम्र 30 सूरज बुडाकोटी पुत्र राधेश्याम बुडाकोटी उम्र 29 नीरज नेगी पुत्र जयपाल नेगी उम्र 25 शामिल है। सभी लोग निवासी ग्राम चरगाड़, पट्टी किमगड़ीगाड़, पोखड़ा ब्लॉक के रहने वाले बताए जा रहे हैं।

(BDO) Block Development Officer Vacancy Uttarakhand 2020
Uttarakhand Education Department- 658 Vacancies
अगस्तमुनि से रुद्रप्रयाग जा रही बोलेरो हादसे का शिकार, सड़क पर ही पलट गई गाड़ी ।
श्रीनगर गढ़वाल में यूटिलिटी चालक ने स्कूटी सवार को कुचल डाला, युवक की मौत ।
कर्णप्रयाग में बोलेरो वाहन दुर्घटनाग्रस्त, एक की मौत दूसरा गम्भीर रूप से घायल ।
पाकिस्तान की गोलाबारी में ऋषिकेश के राकेश डोभाल शहीद, परिवार का रो रोकर बुरा हाल ।
PMGSY RECRUITMENT 2020 UTTARAKHAND
 वर्ग-4 (सहयोगी/गार्ड) के पदों पर भर्ती, 23 दिसम्बर अंतिम तारीख ।
कॉलेज की छात्रा से किया शादी वादा फिर तीन साल बनाए शाररिक सम्बन्ध, अब शादी के लिए चाहिए पांच लाख दहेज ।
वन मंत्री हरक सिंह रावत के बुरे दिन, तीन माह की हुई सजा ।

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।