यह खबर उत्तराखंड के रानीखेत से आ रही हैं। जहां 02 नवम्बर सुबह विद्यालय पहुंचने पर सभी बच्चों की थर्मल स्क्रीनिंग की गई। सभी का तापमान ठीक मिलने पर छात्र-छात्राओं को कक्षाओं में प्रवेश दिया गया। इसी बीच शिव मंदिर क्षेत्र के 12वीं (सी) कक्षा के छात्र के परिजनों का फोन आया कि वह लोग कोरोना जांच कराने गए हैं, बच्चे की भी जांच करानी है इसलिए उसे भी अस्पताल भेज दिया जाए।


सोमवार को स्कूल खुलने के बाद उत्तराखंड के रानीखेत में एक अर्द्ध सरकारी स्कूल के बच्चे के कोरोना संक्रमित मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना पर विद्यालय पहुंची संयुक्त मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडे ने तत्काल प्रभाव से विद्यालय को तीन दिन के लिए बंद करा दिया। कक्षा में सभी 15 छात्र छात्राओं को होम आइसोलेट कर दिया गया है। उनकी भी कोरोना जांच की जाएगी। प्रधानाचार्य सुनील मसीह ने बताया कि अभिभावकों ने ही सुबह लिखित अनुमति के बाद छात्र को स्कूल भेजा था। रैपिड टेस्ट में दोनों अभिभावकों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद छात्र की जांच की गई तो वह भी पॉजिटिव निकला। संयुक्त मजिस्ट्रेट अपूर्वा पांडेय ने बताया कि संक्रमित छात्र और कक्षा में बैठे 15 अन्य विद्यार्थियों को भी होम आइसोलेशन में रखने के निर्देश दिए गए हैं।