उत्तराखंड में कोरोना को लेकर फिर से बदले नियम, पढ़े पूरी खबर ।


 

भारत में कोरोना एक बार फिर तेजी पकड़ने लगा है । गौरतलब है कि कोरोना ठंडे देशों में पहले ही बेहद उत्पाद मचा चुका है । भारत में कोरोना का पहला मामला फरवरी 2020 में मिला था लेकिन मार्च से भारत में गर्मियां शुरू हो जाती हैं। यही वजह रही की भारत में कोरोना वायरस उतना असरदार नजर नही आया जितना की अन्य ठंडे जलवायु वाले देशों में । लेकिन अब भारत में ठंड का दौर शुरू होते ही मामलों में तेजी देखने को मिल रही है और कोरोना वैक्सीन का अभी तक कहीं कोई सफल परीक्षण भी नजर नही आ रहा है, ऐसे में एक बार फिर सभी राज्य उच्च अलर्ट पर आ गये हैं।


उत्तराखंड के पड़ोसी राज्यों में कोरोना फिर से तेजी पकड़ चुका है। हरियाणा यमुनानगर व कुरुक्षेत्र में तो आठ दिन का बन्द भी कर दिया गया है । वाहनों की गति पर ब्रेक लगा दिया गया है । इधर उत्तराखंड में भी शनिवार को हरिद्वार को बन्द रखा गया है और सप्ताह अंत में फिर से शहरों को बन्द रखने के निर्देश जारी कर दिए गये हैं।


हालांकि हरिद्वार कुम्भ की तैयारियां उसी गति से आगे बढ़ रही। कुम्भ का तय समय पर होना निश्चत है लेकिन एक दिन में कितने लोग हरिद्वार में उत्तराखंड बॉर्डर से दाखिल हो सकेंगे इस पर अभी कोई स्पष्ट राय नही है । कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए यात्रियों की संख्या पर पुनर्विचार किया जा सकता है । घाटों पर स्नान के लिए भी नियमों को बदला जा सकता है। अभी तक सरकार का मानना है कि जनवरी तक कोरोना की वैक्सीन शायद भारत को मिल जाए, लेकिन यह पुख्ता जानकारी नही है की ऐसा होगा ही । इसलिए लोगों को खुद से जागरूक रहने की जरूरत है ।


कोरोना के बढ़ते असर को देखते हुए उत्तराखंड में 10 वीं और 12 वीं की कक्षाओं को पुनः बन्द करके वर्चुवल माध्यम से कराने का फैसला सरकार ने इसी वजह से लिया है । यह 2 दिसम्बर 2020 से लागू हो जाएगा । अतैव घर से बाहर निकले से पहले यह सुनिश्चित कर लें की उस दिन वाहनों की आवाजाही पर प्रतिबंध तो नही है ।




विवाह कार्यों और सार्वजनिक कार्यक्रमों के लिए भी जल्द गाइड लाइनो में परिवर्तन देखने को मिल सकता है । क्योंकि कुछ राज्यों में दीपावली पर हुई गेदरिंग के कारण स्थिति अनियंत्रित हो गई है । इसलिए सरकार के पास दोबारा से बन्द या रोक लगाने के अलावा दूसरा विकल्प नही है ।

 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।