उत्तराखंड में दीपावली के एक दिन बाद पर्यावरण फिर से शुद्ध हो गया । दीपावली में जले पटाखों से उठा दुआ मानो बादल बनकर बरस गया । उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर आया उत्तर प्रदेश ले मुख्यमंत्री भी बर्फबारी की वजह से कुछ घण्टे फंसे रह गये ।

रविवार रात को राजधानी देहरादून समेत राज्य के मैदानी तथा पहाड़ी क्षेत्र में बारिश होने से ठंड में इजाफा हो गया है। मसूरी में अभी बर्फ नही गिरी है लेकिन तापमान में काफी गिरावट देखने को मिल रही है। अनुमान है कि आने वाले सप्ताह में मसूरी में भी बर्फबारी देखने को मिलेगी ।

उत्तराखंड के उच्च हिमालय क्षेत्र में रविवार रात को काफी अधिक मात्रा में बर्फबारी हुई है। ऊपरी भूभाग में बर्फ पड़ने से हवाओं में शीत लहर सी बन गई है। उत्तराखंड के दौरे पे आये उत्तर प्रदेश के सीएम आदित्यनाथ भी बाबा केददार के दर्शनों के चलते बर्फ में फंस गये ।

आज से बाबा केदारनाथ और बद्रीनाथ के कपाट भी शीतकाल के लिए बन्द कर दिए गये हैं। ऊपर भागों में इस साल कम बारिश होने से सुखी ठंड के बढ़ने का अनुमान भी लगया जा रहा है। राज्य में कोरोना वायरस अभी भी सक्रिय है ऐसे में ठंड ज्यादा बढ़ने से कोरोना संक्रमण के बढ़ने का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। लोगों को समाजिक दूरी और खान पान का विशेष ध्यान रखना होगा ।