उत्तराखंड रोडवेज में ड्राइवरों की कमी इस प्रकार से हावी हो गई है कि इस बार ड्राइवरों को अवकाश नही दिया जा सकता है। हालांकि जिन संविदा कर्मचारियों को निगम द्वारा हटाया गया था अब उनको दोबारा बुलावा भेजने की बात सामने आई है । आपको बता दें कि इन पदों पर बहाली के लिए कार्य करने वाली निजी कम्पनी ने जिन लोगों को भर्ती किया था उनको निजी कम्पनी द्वारा न तो पूरा मानदेय दिया जा रहा था और न ही उनका किसी प्रकार का पीएफ काटा जा रहा है। इसलिए सरकार ने निजी कम्पनी का टेंडर ही रद्द कर उसको ब्लैक लिस्ट कर दिया था ।


अब दीपावली के मौके पर अधिक से अधिक रोडवेज बसों का संचालन सुनिश्चित कराने की दिशा में अधिकारियों, चालकों, परिचालकों के अवकाश पर रोक लगा दी गई है। महाप्रबंधक दीपक जैन के आदेश के मुताबिक 13 से 16 नवंबर तक अवकाश पर रोक रहेगी। केवल विशेष परिस्थितियों में ही अवकाश स्वीकृति किए जाएंगे।


आदेश के मुताबिक सभी डिपो सहायक महाप्रबंधक अपने-अपने डिपो में कार्यशाला में उपस्थित रहकर सुबह आउटशेडिंग का काम सुनिश्चित कराएंगे। डिपो से अधिक से अधिक बसों का संचालन सुनिश्चित कराया जाएगा। कार्यशाला में तैनात सभी सीनियर फोरमैन, जूनियर फ़ोरमैन, वरिष्ठ और कनिष्ठ केंद्र प्रभारियों को हिदायत दी गई है कि वे इस अवधि में शत-प्रतिशत उपस्थित रहें।