बुधवार को पूर्वोत्तर रेलवे ने पत्र जारी कर बताया कि 28 नवंबर, शनिवार को यह ट्रेन काठगोदाम से दिल्ली होते हुए जैसलमेर जाएगी। इस ट्रेन में पहले 17 कोच थे, लेकिन इस बार एसी 3, एसी 2 व फर्स्ट एसी का एक-एक कोच हटा दिया गया है। काठगोदाम से यह ट्रेन रात 8.35 बजे और रामनगर से रात 10.20 बजे रवाना होगी, जो मुरादाबाद जाकर जुड़ जाएंगी।


पूर्वोत्तर रेलवे द्वारा जारी समय सारणी के अनुसार ट्रेन संख्या 05014, 28 नवंबर को रात्रि 8:35 पर काठगोदाम रेलवे स्टेशन से जैसलमेर को रवाना होगी। दूसरे दिन प्रात: 3:50 पर दिल्ली और 10:08 पर जयपुर पहुंचने के बाद ट्रेन रात्रि 10:15 पर जैसलमेर पहुंचेगी। जबकि जैसलमेर-काठगोदाम एक्सप्रेस संख्या 05013 प्रात: 2:55 पर जैसलमेर से काठगोदाम के लिए रवाना होगी। दोपहर 3:20 बजे जयपुर व रात्रि 9:15 पर दिल्ली पहुंचने के बाद अगले दिन सुबह 4:55 पर काठगोदाम पहुंचेगी।


काठगोदाम रेलवे स्टेशन से लॉकडाउन से पहले 10 ट्रेनें चलती थींं। इसमें से वर्तमान में केवल 3 ट्रेनें ही संचालित हैं। इसमें देहारदून के लिए नैनी-दून जनशताब्दी, काठगोदाम-हावड़ा के लिए बाघ एक्सप्रेस, दिल्ली और काठगोदाम के बीच शताब्दी एक्सप्रेस चल रही है। 28 नवंबर से काठगोदाम-जैसलमेर ट्रेन के चलने के बाद काठगोदाम स्टेशन से चलने वाली ट्रेनों की संख्या 4 हो जाएगी।




ट्रेन हल्द्वानी, लालकुआं, रुद्रपुर, रामपुर, मुरादाबाद, दिल्ली, जयपुर, अजमेर, भगत की कोठी व जोधपुर समेत 35 स्टेशनों पर रुकेगी। राजस्थान घूमने के इच्छुक लोगों के बीच इस ट्रेन की काफी डिमांड थी, लेकिन कोरोना के चलते अब इस ट्रेन में पर्यटकों की आवाजाही कम होने की संभावना है।