दीपा पुत्री नत्थू निवासी रेशमबाड़ी रुद्रपुर ने पुलिस को दिए प्रार्थना पत्र में कहा कि उसका विवाह डेढ़ वर्ष पूर्व राजीव पुत्र बाबू राम निवासी रेशमबाड़ी के साथ हुआ था। शादी में उसकी मां द्वारा अपनी क्षमता के अनुरूप दहेज दिया, लेकिन ससुराल वाले उससे खुश नहीं हुए। वह एक लाख रुपये देने की मांग कर रहे थे। इस दौरान वह गर्भवती हो गई, लेकिन उसको प्रताड़ित करना बंद नहीं किया।


हैवान कब जब इतने से भी दिल न भरा तो एक दिन मारपीट के दौरान उसके पेट में लात मार दी, जिससे उसके बच्चे की गर्भ में ही मौत हो गई। इसकी शिकायत उसके द्वारा चौकी रम्पुरा में की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।


उसके बाद पीड़िता ने एसएसपी को अपनी दास्तान सुनाई। पुलिस ने पति राजीव, सास रामप्यारी, ललिता प्रसाद जेठ, हीरा लाल, राम सिंह, विमलेश जेठानी, रमा, क्रांति, संजीव देवर, वेदराम ननदोई माया ननद निवासी वार्ड नंबर चार रेशमबाड़ी रुद्रपुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।