इस भव्य यात्रा का आयोजन रेलवे की तरफ से किया जाएगा । रेलवे यात्रियों को श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या से प्रयागराज और चित्रकूट के धर्म स्थलों के दर्शन कराने के लिए ट्रेन चलाने जा रहा है। इसके लिए भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आइआरसीटीसी) की ओर से श्रीराम पथ यात्रा की घोषणा की गई है। यह विशेष पर्यटक ट्रेन 12 दिसंबर को देहरादून से चलेगी। ट्रेन में देहरादून के अलावा हरिद्वार, मेरठ, गाजियाबाद, अलीगढ़, हाथरस, टुंडला व इटावा से भी यात्रा शुरू की जा सकती है। वापसी में भी यात्रियों को इन स्टेशनों पर ट्रेन से उतरने की सुविधा होगी। इस सफर के दौरान यात्री नंदीग्राम में भारत मंदिर, प्रयागराज में त्रिवेणी संगम, हनुमान मंदिर व भारद्वाज आश्रम, श्रृंग्वेरपुर धाम, चित्रकुट में मंदाकिनी नदी, रामघाट, सती अनुसूइया मंदिर, गुप्त गोदावरी व हनुमान धारा के दर्शन भी करेंगे।


कोरोना संक्रमण को ध्यान में रखकर स्वास्थ्य विभाग की गाइडलाइन का पूरा पालन किया जाएगा। यात्रा शुरू करने से पहले व समाप्ति पर सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की जाएगी। सफर के दौरान भी साफ-सफाई व सुरक्षा पर विशेष ध्यान रहेगा। सफर में यात्रियों की सुरक्षा के लिए सुरक्षाकर्मी भी मौजूद रहेंगे। आइआरसीटीसी देहरादून से स्टेशन ऑफिसर अमित राणा ने बताया कि यह ट्रेन 12 दिसंबर को देहरादून स्टेशन से रवाना होगी। ट्रेन में स्लीपर क्लास के 12 डिब्बे होंगे। यह 13 दिसंबर को लखनऊ होते हुए अयोध्या पहुंचेगी। वहां यात्री सरयू तट पर सांध्य आरती, मंदिरों का भ्रमण और नंदीग्राम के दर्शनों के बाद अगली शाम ट्रेन से प्रयाग के लिए रवाना होंगे। प्रयाग से ट्रेन चित्रकूट और फिर वहां से 16 दिसंबर की शाम देहरादून के लिए रवाना होगी। ट्रेन में सफर व विश्राम के दौरान यात्रियों को शाकाहारी भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।