उत्‍तराखंड के चम्‍पावत ज‍िले के रहने वाले पवनदीप राजन इंडियन ऑयडल 20-20 सीजन 12 में धमाल मचा रहे हैं। शनिवार से सोनी टीवी पर इस शो का प्रसारण शुरू हो गया है। जो लगातार पांच माह तक हर शनिवार और रविवार को रात आठ बजे से होगा। पवन दीप के इंडियन ऑयडल में चयन होना चम्पावत जिले के लिए किसी उपलब्धि से कम नहीं है।


जादुई आवाज व सुरों से बॉलीवुड के प्रसिद्ध सिंगर्स को लुभा चुके पवनदीप राजन प्रसिद्ध कुमाऊंनी लोकगायक सुरेश राजन के बेटे हैं। वे चंडीगढ़ के रॉक बैंड समूह से जुड़ चुके हैं। द वॉइस इंडिया के विजेता भी रह चुके हैं पवनदीप राजन ।

कुमाऊंनी, गढ़वाली, पंजाबी फीचर फिल्मों की एलबम आदि में भी प्लेबैक सिंगिंग भी करते हैं। अब उन्होंने अपनी गायिकी का जलवा इंडियन ऑयडल सीजन 12 में दिखाना शुरू कर दिया है। उनके पिता सुरेश राजन ने बताया कि महज ढ़ाई साल की उम्र में पवन ने लोहाघाट नगर से लगे रायनगर चौड़ी गांव की रामलीला में तबला बजाकर सबको हैरत में डाल दिया।


दो साल आठ माह की उम्र में वर्ष 1998 में उसने चम्पावत में आयोजित कुमाऊं महोत्सव में भी तबला बजाकर सभी का ध्यान अपनी ओर खींचा था। डेढ़ साल की उम्र से ही उसके ताऊ सतीश राजन ने उसे संगीत की रियाज देनी शुरू कर दी थी। पवन दीप राजन को संगीत विरासत में मिला था। उसके दादा जी स्व. रति राजन भी अपने समय के प्रसिद्ध लोकगायक थे।