उद्योग धंधे भले चौपट हो गए हों लेकिन उत्तराखंड पुलिस मालामाल होती चली जा रही है। कोरोना नियमों के उल्लंघन में सात माह के दौरान पुलिस ने पूरे प्रदेश में सामाजिक दूरी का पालन न करने, मास्क न पहनने, क्वारंटीन नियम तोड़ने और सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के पांच लाख से अधिक मामले पकड़कर 19 करोड़ से अधिक का संयोजन शुल्क (जुर्माना) वसूला है।



मार्च में लॉकडाउन के कुछ माह बाद अनलॉक की कार्यवाही शुरू की थी। संक्रमण से बचाव के लिए पुलिस को कोरोना के संबंध में जारी गाइड लाइन का पालन न करने वालों के खिलाफ सख्ती से कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए थे। इस दौरान पुलिस ने कोरोना नियमों के उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई शुरू की। जिसके तहत मार्च से 14 अक्तूबर 2020 तक पुलिस ने प्रदेश भर में कोरोना उल्लंघन के पांच लाख 28 हजार 672 मामले पकड़े और 19 करोड़ तीन लाख 66 हजार रुपये का संयोजन शुल्क वसूला।



इन मामलों में 76 हजार 279 मामले सोशल डिस्टेंसिंग उल्लंघन, 3 लाख 77 हजार 498 मामले मास्क न पहनने, 947 मामले क्वारंटीन नियम तोड़ने और 216 मामले सोशल मीडिया पर कोरोना या लॉकडाउन के संबंध में गलत अफवाह फैलाने के हैं। जबकि 73 हजार 732 अन्य मामले हैं।