गनाथ घाटी के उषाड़ा गांव निवासी व 5-गढ़वाल रायफल में तैनात अरविंद नेगी पुत्र बलवीर सिंह नेगी असम में खेलने के दौरान गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें उपचार के लिए ले जाया गया, लेकिन चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। सेना द्वारा घटना के बारे में परिजनों को सूचना दे दी गई है। मंगलवार को सैनिक का पार्थिव शरीर गांव पहुंचने की उम्मीद है।


2010 में सेना में भर्ती हुए 29 वर्षीय अरविंद नेगी इन दिनों असम के तामुलपुर में तैनात थे। बीते 13 दिसंबर को खेलने के दौरान उनके सिर पर गंभीर चोट लग गई थी। इसके बाद उन्हें सेना के अस्पताल गुवाहाटी में भर्ती किया गया था, लेकिन उपचार के दौरान बीते रविवार शाम लगभग साढ़े पांच बजे उन्होंने दम तोड़ दिया।


उनके चचेरे भाई दीवान सिंह नेगी व शिशुपाल सिंह नेगी ने बताया कि अरविंद इस वर्ष अप्रैल में छुट्टी पर आए थे, और 5 मई को ड्यूटी के लिए लौट गए थे। वे अपने पिता की तीन संतानों में सबसे छोटे थे। मृतक सैनिक अपने पीछे पत्नी व डेढ़ साल के बेटे को छोड़ गया है। घटना के बाद से घर, परिवार व गांव में मातम पसरा हुआ है।