जानिए कब होगा ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेलवे लाइन का शुभारंभ ।

 


125 किमी लंबी ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन के निर्माण का कार्य तेजी से चल रहा है । इसमें 12 स्टेशन, 17 सुरंग व 35 ब्रिज बनाए जाएंगे । आपको बता दें कि चारों धाम को रेल से जोड़ने की योजना पर तेजी से कार्य हो रहा है । आलवेदर रोड की अपेक्षा में रेलवे प्रोजेक्ट पर कार्य तेजी से और अधिक फायदेमंद नजर आ रहा । यह मार्ग ऋषिकेश से मलेथा तक अधिकांश अंडरग्राउंड ही रहेगा । ऋषिकेश से मलेथा तक कुल तीन स्टेशन रहेंगे ।



आज डीएम स्वाति एस भदौरिया ने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन परियोजना के निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक ली। जिसमें परियोजना कार्य में जुडे अधिकारियों ने बताया कि ऋषिकेश- कर्णप्रयाग रेल लाइन का कार्य वर्ष 2025 तक पूर्ण कर लिया जाएगा और जनवरी से फरवरी 2026 में इस मार्ग पर ट्रैन चलने की संभावना है । साथ ही अधिकारियों ने बताया कि चारों धामों को रेल सेवा से जोड़ने के लिए 327 किमी के चार रेलवे लाइन के सर्वे पर कार्य भी किया जा रहा है।



डीएम स्वाति एस भदौरिया ने वैठक की अध्यक्षता करते हुए साफ निर्देश जारी किये जिसमें उन्होंने कहा कि परियोजना के निर्माण में जिला स्तर से जो भी कार्य अपेक्षित हैं वह समय पर किए जाएंगे। साथ ही रेलवे के अधिकारियों को माइनिंग, बैचिंग प्लांट, स्टोन क्रशर लगाने एवं अन्य जरूरतों के लिए निर्धारित प्रारूप पर ही आवेदन करने के निर्देश दिए। टनल के आसपास या इसके ऊपर जो भी बसावटें हैं, उनका गहनता से सर्वे करें और कितने परिक्षेत्र में ब्लास्टिंग का प्रभाव हो सकता है, इसकी रिपोर्ट भी प्रशासन को सौंपे ।

 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।