पहाड़ी क्षेत्र में ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों के लिए अच्छी खबर ।



पहाडी क्षेत्र में पुलिसकर्मियों को बड़ी राहत देते हुए साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था शुरू की जा रही है। शुरुआती तौर पर कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल को सभी नौ पहाड़ी जनपदों में आगामी एक जनवरी से साप्ताहिक अवकाश की सुविधा दी जाएगी। लेकिन आपातकाल स्थिति में ड्यूटी पर बुलाया जा सकता है ।


डीजीपी अशोक कुमार ने पदभार संभालते ही पुलिसकर्मियों के साप्ताहिक अवकाश को प्राथमिकता में रखा था। उन्होंने बताया कि पहाड़ के सभी नौ जनपदों में कांस्टेबल और हेड कांस्टेबल के लिए साप्ताहिक अवकाश की व्यवस्था एक जनवरी से की जा रही है। इसके लिए उनका रोस्टर तैयार किया जाएगा। थाने चौकी सप्ताह के सातों दिन खुलते हैं। इसलिए यह जिम्मेदारी थानाध्यक्ष की होगी कि किसको किस दिन छुट्टी दी जानी है। इसके लिए सभी के दिन तय किए जाने हैं। पहाड़ी जनपदों में टिहरी गढ़वाल, पौड़ी गढ़वाल, पिथौरागढ़, चमोली, चंपावत, बागेश्वर, अल्मोड़ा आदि शामिल हैं।


मैदानी जिले देहरादून, नैनीताल, हरिद्वार और ऊधमसिंह नगर को इससे बाहर रखा गया है। उन्होंने बताया कि यदि इन जनपदों में यह व्यवस्था कामयाब रही तो अन्य में भी व्यवस्था को लागू किया जाएगा। पिछले दिनों डीजीपी ने नैनीताल में सम्मेलन के दौरान साप्ताहिक अवकाश की बात कही थी। डीजीपी का मानना है कि साप्ताहिक अवकाश से सिपाहियों को मानसिक राहत मिलेगी और उनके काम को भी गुणवत्तापूर्ण बनाया जा सकता है।

 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।