उत्तराखंड के टिहरी जिले से गायब हुए 450 शराब पेटी लदे ट्रक का राज आखिरकार हल हो ही गया। इस मामले में पुलिस की त्वरित कारवाई के लिए रुपये 20,000 का ईनाम भी दिया गया है । दरअसल मामला इतना बड़ा थी कि इससे लॉ एंड ऑर्डर पर ही सवाल खड़े होने लगे थे। इस पूरे घटना क्रम की पहाड समीक्षा ने एक एक खबर पाठकों तक पहुंचाई । आपको बता दें कि इस पूरी घटना को अंजाम तक ट्रक ड्राइवर पप्पू जोशी ने खुद पहुंचाया था ।



टिहरी से 450 पेटी विदेशी शराब लेकर हल्द्वानी हेतु निकले ट्रक के द्वाराहाट, अल्मोड़ा में लावारिस अवस्था में मिलने और उसमें ड्राइवर और उपरोक्त 450 पेटी शराब मौजूद नहीं थे । आपको बता दें की ट्रक की लोकेशन प्राप्त करने में ट्रक में लगे जीपीएस की अहम भूमिका रही। इस आठ चोरों ने ट्रक में एक जीपीएस तो बन्द कर दिया लेकिन दूसरे की इनको जनकारी नही होने की वजह से ट्रक की लोकेशन का पता चल गया और वह इंजीनियरिंग कॉलेज के गेट पे खड़ा खाली खड़ा मिला था ।



अब अल्मोड़ा एसओजी और स्थानीय पुलिस ने सफलतापूर्वक कारवाई करते हुए घटना में संलिप्त 08 अभियुक्तों को गैरसैंण, चमोली के अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार कर लिया है। अभियुक्तों के कब्जे से 390 पेटी शराब भी बरामद की गई है। इन संलिप्तों के नाम नीचे दिए गये हैं-



1-राजेन्द्र सिंह, निवासी ग्राम खेती, गैरसैंण, चमोली।

2-हयात सिंह, निवासी ग्राम खेती, गैरसैंण, चमोली।

3-जयवीर सिंह, निवासी ग्राम मालसी, गैरसैंण, चमोली।

4-बलवन्त सिंह, निवासी ग्राम खेती, गैरसैंण, चमोली।

5-गोविन्द सिंह, निवासी ग्राम सुगड़, आदि बद्री, चमोली।

6-हरीश सिंह, निवासी ग्राम खेती, गैरसैंण, चमोली।

7-कमल सिंह, निवासी निवासी ग्राम खेती, गैरसैंण, चमोली।

8-अनिल पंवार, निवासी ग्राम दिवालीखाल