उत्तराखंड के बग्वालीपोखर में जब एक आदमी का गुलदार से सामना हुआ तो जान बचाने के लिए व्यक्ति गुलदार से भीड़ गया । दरअसल गुलदार दिनदहाड़े ही एक रेस्तरां स्वामी पर झपट गया। यह वाक्य गगास बग्वालीपोखर रोड स्थित टूरिस्ट स्पाट पनेरगांव ,अल्मोड़ा जिले में घटित हुआ है । रेस्तरां मालिक गुलदार से लड़ते हुए चिल्लाता रहा और जब उसकी चीख पुकार कुत्तों के कान में पड़ी तो फिर क्या था, निकल पड़े भोटिया झबरू गुलदार से भिड़ने ।


भोटिया कुत्तों ने गुलदार पर इतनी जोर का झपटा मारा कि गुलदार समझ गया की अब ज्यादा देर यहां टिकना सम्भव नही है और जंगल की ओर भाग गया । घायल रेस्तरां संचालक को नागरिक चिकित्सालय में पहुंचाया गया।


50 वर्षीय मनोज पांडे का सड़क से लगा मिडवे रेस्तरां है। प्रकृति प्रेम होने के कारण रेस्टोरेंट के पिछले हिस्से में उन्होंने बहुपयोगी बांज, काफल आदि का मिश्रित जंगल तैयार किया है। इसके बगल में ही बकरीबाड़ा व गोशाला बनाई है। बुधवार को पूर्वाह्नï करीब 11 बजे वह मवेशियों को चारा देने के लिए गए। तभी बकरियों व गाय को शिकार बनाने की फिराक में बैठे गुलदार ने मनोज पर हमला कर दिया।


घबराहट के बावजूद उन्होंने साहस से गुलदार की गर्दन को दोनों हाथों से जकड़े रखा। मदद के लिए चीखे भी। तभी परिसर में मौजूद कुत्तों ने गुलदार को घेर लिया। कई बार हमले भी किए। संघर्ष में मनोज पांडे की छाती, पीठ, कमर व जांघ में पंजे के गहरे घाव हो गए। उन्हेंं उपचार के लिए नागरिक चिकित्सालय रानीखेत ले जाया गया। वन विभाग की टीम ने अस्पताल पहुंच घटना की जानकारी ली।