उत्तराखंड यातायात निदेशालय की ओर से बढ़ी सख्ती, जानें क्या है नये नियम ।


 

उत्तराखंड यातायात निदेशालयकी ओर चालान सम्बंधित एप्प को और मजबूती देने की दिशा में कार्य हो रहा है । उत्तराखंड ट्रैफिक आई एप्प को और आधुनिक बनाया जा रहा है। एप्प में जिसका चालान होगा, उसकी फोटो चालान पर्ची में भी होगी। एप्प में चालान होते ही जिस वाहन संख्या का चालान होगा उस वाहन संख्या के पंजीकृत स्वामी के मोबाइल पर उक्त चालान के भुगतान के लिए लिंक चला जाएगा। इसके अलावा एप्प में जिनके द्वारा शिकायत की जाएगी उनकी शिकायत पर क्या कार्रवाई, उसका विवरण शिकायतकर्ता के स्टेट्स में आ जाएगा।


यातायात व्यवस्था में सुधार के लिए निदेशक यातायात केवल खुराना ने कई महत्वपूर्ण निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि देखने में आ रहा है कि कुछ व्यक्तियों की ओर से यातायात के एंबुलेंस को रास्ता नहीं दिया जाता है, जोकि किसी के जीवन के लिए काफी घातक हो सकता है। एंबुलेंस का रास्ता रोकने वालों के लिए एमवी एक्ट के अंतर्गत 10 हजार रुपये जुर्माना व छह महीने तक कारावास या दोनों का प्रावधान है। ऐसे मामलों को गंभीरता से लेते हुए वाहन चालकों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।


यातायात में कार्यरत पुलिस बल को बेहतर बनाने के लिए आधुनिक प्रशिक्षण कार्यक्रम कराए जा रहे हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए निरीक्षक व उपनिरीक्षक के लिए सड़क सुरक्षा प्रबंधन व दुर्घटना की जांच प्रशिक्षण कार्यक्रम 13 जनवरी से 15 जनवरी 2021 तक चलाने को कहा है। प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य सुरक्षा सुरक्षा व यातायात नियमों के कानूनों को समझना, रोड चिन्ह, सिग्नल व सड़क पर मार्किंग की जानकारी, यातायात नियमों व सड़क सुरक्षा के उल्लंघनों की पहचान, सड़क दुर्घटनाओं की विवेचना व साक्ष्य संकलन, पहाड़ी क्षेत्रों में यातायात प्रबंधन, सड़क सुरक्षा दुर्घटनाओं की विवेचना में आने वाली समस्या की जानकारी देना है।

 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।