ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर चंबा शहर के नीचे पहली सुरंग निर्माण कार्य हुआ पूरा, नए वर्ष में दौड़ सकेंगे वाहन ।

 


चम्बा शहर का जाम हर किसी को याद आता है क्योंकि सड़क शंकरी हैं और बड़े वाहनों के आगे लग जाने से जाम की स्थिति पैदा हो जाती है । इस जाम से निजात पाने के लिए बीआरओ ने आस्ट्रेलियाई तकनीक की मदद से 440 मीटर लंबी सुरंग का निर्माण कार्य किया जो आज कल अंतिम दौर में हैं।


इसके बाद सुरंग को जगमगाने के लिए एलईडी लाइट लगाई जाएगी। साथ ही सुरंग के दोनों ओर फुटपाथ और उस पर रेलिंग लगाई जा रही है। वहीं सुरंग से यातायात शुरू होने से वाहनों का दबाव डायवर्ट होने से चंबा बाजार में आए दिन जाम नहीं लगेगा। साथ ही देश-विदेश से आने वाले चारधाम यात्री सरपट गंगोत्री-यमुनोत्री की यात्रा कर सकेंगे। करीब 40 करोड़ की लागत से चंबा बाजार के नीचे उत्तराखंड की पहली भूमिगत सुरंग का निर्माण कार्य अंतिम चरण में है। सुरंग के भीतर लाइटिंग और पैदल पथ सहित साज-सज्जा का कार्य किया जा रहा है। जनवरी अंत तक सुरंग यातायात के लिए खोलने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है।


चारधाम परियोजना सड़क चौड़ीकरण के तहत चंबा बाजार में कई भवन और दुकानें आड़े आ रही थी, जिस पर भवन और दुकानों को टूटने से बचाने के लिए बाजार के नीचे सुरंग बनाने के लिए केंद्र सरकार ने हरी झंडी दी थी। सीमा सड़क संगठन ने नवीनतम आस्ट्रेलियाई तकनीक के प्रयोग से जनवरी 2019 में सुरंग का काम शुरू किया। मठियाण गांव की तरफ से सुरंग की खुदाई का काम शुरू होते ही पहाड़ी से निरंतर जल निकासी और कई मकानों में दरारें आने के कारण सुरंग का निर्माण चुनौतिपूर्ण था, लेकिन तमाम चुनौतियों के बीच बीआरओ ने सुरंग निर्माण में सफलता हासिल कर ली है। अब सुरंग के भीतर रंग-रोगन का कार्य हो रहा है।


 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।