हरिद्वार भगवानपुर के रायपुर गांव में उस वक्त हड़कम्प मच गया जब एक ही दवा फैक्ट्री में काम करने वाले प्रेमी जोडा खेलपुर-रायपुर रोड पर तड़फता मिला । पुलिस के मुताबिक नरेश कुमार निवासी गुनियाजुड्डी, थाना चरथावल, मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश) करीब 10 साल से भगवानपुर क्षेत्र के रायपुर गांव में किराये पर रहता है। वह एक फैक्ट्री में सुरक्षाकर्मी है। उसकी पत्नी बबीता एक दवा कंपनी में नौकरी करती थी। इनके दो बच्चे हैं। बबीता के साथ ही फैक्ट्री में करीब एक साल से सुमित निवासी ग्राम मच्छरहेड़ी, थाना नकुड, जिला सहारनपुर भी नौकरी करता था। सुमित इसी गाँव में किराए के मकान पर रहता था ।


बुधवार की सुबह करीब साढ़े नौ बजे कुछ ग्रामीण खेलपुर-रायपुर रोड से होकर जा रहे थे। इसी दौरान रास्ते में बबीता और सुमित तडफ़ते हुए मिले। ग्रामीणों ने युगल के पड़े होने की सूचना खेलपुर गांव के प्रधान तनवीर को दी। सूचना मिलने पर प्रधान ने पुलिस को मामले से अवगत कराया। आननफानन पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को भगवानपुर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भिजवाया। जहाँ दोनों की मौत हो गई । पुलिस ने दोनों के शव कब्जे में लिए हैं। वहीं मृतक महिला के स्वजन कुछ भी कहने से बच रहे हैं। थाना प्रभारी पीडी भट्ट ने बताया कि मामला प्रेम प्रसंग का लग रहा है। पुलिस को इस मामले में अभी कोई शिकायत नहीं मिली है। पूरे मामले की छानबीन की जा रही है।