नये साल पर मसूरी और नैनीताल आने वालों से मांगी कोरोना रिपोर्ट, तो रामनगर के होटल कारोबारियों की हुई चांदी ।


हर वर्ष नये साल के लिए मसूरी और नैनीताल में खूब भीड़ देखने को मिलती है । यही एक समय होता है जब मसूरी और नैनीताल के होटलों में जगह नही होती । लेकिन इस वर्ष नैनीताल व मसूरी जैसे पर्यटन स्थलों में कोविड की रिपोर्ट मांगी जा रही है या फिर जांच की जा रही है। यही वजह है कि पर्यटकों का रुख रामनगर की ओर हो रहा है। जिस वजह से पर्यटकों की तादाद इस बार रामनगर में बढ़ रही है। ऐसे में होटल व बड़े रेस्टोरेंट संचालक उत्साहित हैं। पर्यटकों को विभिन्न प्रकार के इटैलियन फूड, साउथ इंडियन, चायनीज फूड, पहाड़ी व्यंजन परोसने के साथ ही विभिन्न ब्रांड की शराब भी परोसने का क्रेज बढ़ता जा रहा है।


क्षेत्र के 30 होटलों द्वारा मंगलवार तक आबकारी विभाग से शराब पिलाने का लाइसेंस लिया जा चुका है। शराब पिलाने के लाइसेेंस के लिए आबकारी विभाग की वेबसाइट मेें ऑनलाइन पांच हजार रुपये शुल्क जमा कर आवेदन करना होगा। इसके बाद लाइसेंस के लिए अलग से पांच हजार रुपये जमा करने होंगे। लाइसेंस की अनुमति ऑनलाइन ही होटल संचालक को मिलेगी। इसके बाद लाइसेंस की अनुमति को आबकारी विभाग के स्थानीय कार्यालय में दिखाना होगा। कार्यालय से आबकारी निरीक्षक शराब खरीदने के लिए दुकान आवंटित करेंंगे और निर्धारित जगह पर शराब ले जाने का पास जारी करेंगे।


आबकारी विभाग से लाइसेंस मिलने के बाद ही होटल में शराब पिलाई जा सकती है। बिना अनुमति शराब पिलाते मिलने पर होटल संचालक के खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा। कार्रवाई से बचने के लिए अब तक 30 होटलों द्वारा आबकारी विभाग से शराब पिलाने का लाइसेंस लिया गया है। आबकारी विभाग के निरीक्षक पीसी जोशी ने बताया कि रात में होटलों में चेकिंग की जाएगी।

 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।