स्कूल अवकाश पर सरकार की रोक



शीतकाल में 10वीं व 12वीं की कक्षाओं का संचालन जारी रहेगा। प्रदेश में कोरोना महामारी के चलते सात महीने तक सरकारी और अनुदान प्राप्त अशासकीय विद्यालय बंद रहे। इन विद्यालयों में ऑनलाइन पढ़ाई कराई जा रही थी। सरकार ने बीती दो नवंबर से प्रदेश में सिर्फ दो कक्षाओं 10वीं और 12वीं को कोविड-19 सुरक्षा मानकों का पालन करते हुए संचालित करने के आदेश दिए थे। बोर्ड कक्षाओं में छात्र-छात्राओं की परेशानी को देखते हुए सरकार ने शीतकालीन अवकाश समाप्त कर दिया है ।


शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने इस संबंध में गुरुवार को आदेश जारी किए। शासन के इस कदम से बोर्ड की उक्त कक्षाओं की पढ़ाई जारी रह सकेगी। आदेश में कहा गया कि सिर्फ उक्त दो कक्षाओं के शिक्षक ही शिक्षण कार्य जारी रखेंगे। अन्य शिक्षकों को विद्यालय आने की आवश्यकता नहीं होगी। शासन ने किसी जिले या क्षेत्र विशेष में प्रतिकूल मौसम होने पर विद्यालय बंद करने का निर्णय लेने के संबंध में जिलाधिकारी को अधिकृत किया है। यह आदेश मात्र इसी सत्र के लिए प्रभावी होगा। गौरतलब है कि उक्त विद्यालयों में शीतावकाश 25 दिसंबर से प्रारंभ होकर 10 जनवरी या जनवरी माह के पहले पखवाड़े तक रहता है।


आपको बता दें कि सरकार ने 10वीं व 12वीं कक्षाओं में शिक्षण कार्य करने वाले शिक्षकों के अतिरिक्त अन्य शिक्षकों को उक्त व्यवस्था से अलग रखा है। लेकिन कक्षा 10 व 12 के सभी विषय अध्यापकों को स्कूल पहुंचकर पढ़ाना अनिवार्य है ।