उत्तराखंड समाचार: उत्तराखंड में सियासी पारा आप के आने से पहले ही गरमा चुका था। आप को उत्तराखंड में शून्य समझने वाली पार्टी भाजपा अंदरखाने खुद डरी हुई, ऐसा सूत्रों के हवाले से खबर है। पिछले कुछ समय में आप के साथ जुड़े चेहरे बताते हैं कि आप अब कितनी खास हो चली है। आप के राज्य में आ जाने से पूर्व के नाराज पदाधिकारी धीरे धीरे आप में जगह तलाश रहें हैं। आपको बता दें कि राज्य में जो लोग आप को कम आंक रहे हैं वह शायद गलती कर रहे हैं। उत्तर प्रदेश और हिमांचल निकाय चुनाव में आप ने शानदार जीत हासिल की हैं। हिमांचल में कुल 40 सीटों में से 36 सीटें आप की झोली में गिरी हैं।
पार्टी उत्तराखंड में लगातार सक्रिय बनी हुई है। इसी कड़ी में, पूर्व दर्जाधारी और सामाजिक कार्यकर्ता रविंद्र जुगरान आम आदमी पार्टी के रथ पर सवार हुए। शुक्रवार को जुगरान ने समर्थकों के साथ आप पार्टी में शामिल होकर सदस्यता ग्रहण की। आप के प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया ने रविंद्र जुगरान को पार्टी की सदस्यता दिलाई। भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व दर्जाधारी रविंद्र जुगरान ने आप में शामिल होंगे का निर्णय लिया है।जनहित के मुद्दों और भ्रष्टाचार के खिलाफ जुगरान आवाज उठाते रहते हैं। राज्य आंदोलनकारी के रूप में उनकी अपनी एक पहचान है। लंबे समय तक भाजपा में रहने के बाद उन्होंने आम आदमी पार्टी में जाने का फैसला लिया है। उत्तराखंड समाचार

पीपलकोटी में आम आदमी पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद कपरूवाण के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने सदस्यता अभियान चलाया। इस दौरान कम्यार गांव के 102 वर्षीय नंदन सिंह नेगी और उनके पौते भगत सिंह (40) ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। पीपलकोटी में आयोजित गोष्ठी में प्रदेश उपाध्यक्ष विनोद कपरुवाण ने कहा कि जिले की तीनों विधानसभा क्षेत्रों में आम आदमी पार्टी का सदस्यता अभियान शुरू हो गया है। प्रदेश को शहीदों के सपनों का उत्तराखंड बनाया जाएगा। उत्तराखंड समाचार

आपको बता दें कि उत्तराखंड राज्य में 24 से अधिकछोटे बड़े बांध बिजली बनाने का कार्य कर रहे है लेकिन राज्य में फिर भी बिजली के दाम बढ़ाए जा रहे हैं जबकि दिल्ली उसी बिजली को मुफ्त में दे रहा है। दरअसल, मुफ्त नही बल्कि दिल्ली सरकार ने लोगों को तय मानक के अंदर रहना सिखाया है। समाज में हर प्रकार का तबका रहता है। एक वह है जिसके पास बिजली के बिल देने के पैसे नही है और एक वह है जिसके पास इतना पैसा है कि वह उससे चार गुनी बिजली की यूनिट खर्च करता है जिनता आम आदमी का कुल माह का बिजली बिल आता था। दिल्ली सरकार ने क्या किया कि अमीर जो ज्यादा बिजली फूंकता था उससे तो पूरे पैसे ले लिए लेकिन जो 100 से 200 यूनिट बिजली जलाता था उसको माफ कर दिया। इस प्रयास से लोगों ने बिजली की बचत करना सीखा और अपना बिल बचा लिया। उत्तराखंड समाचार

आम आदमी पार्टी अगले दो साल में छह राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव में ताल ठोकेगी। आप पंजाब समेत उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, हिमाचल प्रदेश और गुजरात चुनाव में उतरेगी। आप की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पार्टी संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसका एलान किया है। उत्तराखंड की सियासत में तीसरे विकल्प का दावा कर रही आप में लोगों के जुड़े का सिलसिला जा रही है। कई दलों के लोग आप में शामिल हो रहे हैं। रविंद्र जुगरान ने आप पार्टी में शामिल होने की पुष्टि की है। शुक्रवार को सुभाष रोड स्थित एक वेडिंग प्वाइंट में सदस्यता कार्यक्रम में जुगरान अपने समर्थकों के साथ आप की सदस्यता ग्रहण करेंगे।