काफलीगैर निवासी ललित जोशी को समाज के विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए उच्च शिक्षामंत्री डा. धन सिंह रावत ने उत्तराखंड रत्न के खिताब से नवाजा गया। इस उपलब्धि पर बागेश्वर जिले में खुशी की लहर दौड़ गई है। सीआइएमएस कालेज देहरादून में रविवार को आल इंडिया कांफ्रेस आफ इंटेलेक्चुअल का 42 अधिवेशन हुआ था जिसमें उनको यह सम्मान दिया गया।

ललित मोहन जोशी ने बताया कि कक्षा आठ तक की पढ़ाई बागेश्वर में पूरी करने के बाद आगे की पढ़ाई को हल्द्वानी व देहरादून जैसे शहरों की ओर निकले तो स्कूली कई बच्चे और युवा नशे में गिरफ्त में दिखाई दिए। तब से नशे के खिलाफ जंग लड़ने की ठानी। मानवाधिकार संरक्षण एवं भ्रष्टाचार निवारक समिति तथा सजग इंडिया संस्था के तहत नशे के खिलाफ जन जागरूकता अभियान चलाकर नशे को ना, जिदगी को हां का नारा देते हुए युवाओं से व्यसन मुक्त रहने की अपील की है।

कई वर्षों से वह लगभग एक हजार से अधिक स्कूलों में जाकर लगभग पांच लाख छात्र-छात्राओं व युवाओं को नशे से दूर रहने के प्रति जागरूक कर चुके हैं। इस अभियान को यूट्यूब चैनल के जरिये भी चला रखा है। इस चैनल के जरिये भी ललित बच्चों और युवाओं को नशा न करने के लिए प्रेरित करते रहते हैं। उनका कहना है कि अंतर्मन को मजबूत करना होगा।