पहाड़ समीक्षा ने 23 दिसम्बर 2020 को एक विस्तृत लेख में उत्तराखंड में बढ़ रहा नशे का व्यापार और युवाओं में नशे के दुष्प्रभाव का प्रकाशन किया था। पहाड़ समीक्षा का प्रयास था कि युवा वर्ग तक यह सन्देश पहुंचे और नई पीढ़ी को नशे से मुक्त रखा जा सके। पहाड़ समीक्षा अपने लेखों में बाहरी लोगों के सत्यापन की बात करता रहा है और साथ यह भी माँग उठता रहा है कि अगर कोई बाहरी व्यक्ति किसी भी प्रकार के गलत कार्य में लिप्त पाया जाता है तो उसपे राज्य में रोजगार के लिए आने पर प्रतिबंध हो और कुछ समय सजा का प्रावधन भी हो। कल डीजीपी महोदय से लोगों ने यही बात दोहराई।

यह भी पढ़े:- उत्तराखंड में बढ़ रहा नशे का कारोबार, युवा हो रहे हैं नशे का शिकार

गोपेश्वर पुलिस मैदान में आयोजित जन संवाद कार्यक्रम में लोगों ने पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के समक्ष यह समस्या रखी। लोगों ने कहा कि डीजीपी महोदय, युवा पीढ़ी को नशे के चंगुल से बचाएं और नशे के विरुद्ध पुलिस कार्रवाई तेज करवाएं। जिले में पहुंच रहे बाहरी लोगों का सत्यापन अनिवार्य करें और पुलिस कर्मियों को सुविधा संपन्न बनाकर उन्हें आवास सुविधा मुहैया कराएं।