ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाली कच्ची शराब शहरों तक धड़ले से पहुंचाई जा रही है। अंग्रेजी की बढ़ी कीमतें पीने वालों के एक बड़ी समस्या है इसलिए शहरों में कच्ची का चलन बढ़ता जा रहा है । रामनगर के शहरों तक आने वाली कच्ची दारू भी आस पास के ग्रामीण क्षेत्रों से ही भेजी जाती है । ऐसे में पुलिस ने कच्ची के खिलाफ अभियान चला रखा है जिसमें कच्ची बनाने वाले गिरोह के एक सदस्य को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।


कोतवाली पुलिस ने गांव में कच्ची शराब के खिलाफ अभियान चलाया। इस दौरान पुलिस ने एक युवक को कच्ची शराब के साथ पकड़ लिया। आरोपित का भागने का प्रयास विफल हो गया। उसके पास से टायर की एक ट्यूब बरामद हुई। उसमें 61 लीटर कच्ची शराब बरामद हुई। पूछताछ में उसने अपना नाम राजू पुत्र मदन सिंह ग्राम तुमड़िया डेम निवासी बताया। उसने शराब गांव से लाकर रामनगर में बेचने की बात कबूल कर ली । एसएसआई जयपाल चौहान ने बताया कि आरोपित के खिलाफ आबकारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। उसके साथ शामिल शराब बनाने वालों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। आरोपित को पुलिस कोर्ट भेजने की तैयारी कर रही है।


क्षेत्र में कच्ची शराब बनाकर बेचने वाले लोगों का गिरोह सक्रिय है। यही वजह है कि रामनगर के ग्रामीण क्षेत्रों में कच्ची शराब का धंधा फलफूल रहा है। पांच दिन में शराब बेचने वाले चार लोग पकड़े गए हैं। उनके पास से 165 लीटर कच्ची शराब व दो पेटी अंग्रेजी शराब बरामद हुई है।