टिहरी में दोबारा और चांठी को प्रतापनगर से जोड़ने वाला एक मात्र पुल डोबरा चांठी हाल ही में बनकर तैयार हुआ है। बनकर तैयार होते ही यह पुल काफी सुर्खियों में इसलिए भी रहा क्योंकि टिहरी डैम बनने के बाद कुछ गाँव मुख्य बाजार से बिल्कुल अलग थलग पड़ गये थे, उनको पुनः जोड़ने का सपना इसी पुल के बनने के बाद पूरा हो सका है । 15 वर्षों के लम्बे अंतराल के बाद यह पुल वास्तविकता में लोगों के सेवा में समर्पित किया गया लेकिन नवम्बर 2020 में उद्धघाटित इस पुल से लगने वाली सड़क ने चंद दिनों में ही लोगों के दिलों में निराशा और हताशा के बीज बो दिए हैं।

पुल के एक ओर चांठी साइट से लगी सड़क में दरार पड़ जाने से लोग 15 वर्ष के इंतजार के बाद खुद को ठगा सा महसूस करने लगे हैं । इस सड़क का निर्माण हिल व्यू नाम की कम्पनी ने किया था । अब आरोप लग रहे हैं की कम्पनी ने मानकों को ताक पर रखकर सड़क निर्माण किया है । कंपनी ने सड़क बनाने के लिए 3 करोड़ रुपये लिए, लेकिन करोड़ों खर्च होने के बाद सड़क महज दो माह में क्षतिग्रस्त हो गई । सड़कपर पड़ा डामर जगह- जगह से उखड़ रहा है और पुल के पास सड़क पर बनी दरार से पता चलता है कि सड़क की गुणवत्ता किस प्रकार की है ।

आपको बता दें कि हिल व्यू कम्पनी के साथ ही लोकनिर्माण विभाग को इस सड़क की जिम्मेदारी सौंपी गई थी । सड़कमें मिली खामियों के बाद लोकनिर्माण विभाग का कहना है की "हिल व्यू कम्पनी" को सड़क को सही करने के निर्देश जारी कर दिए गये हैं ।