आइटी सेक्टर में विश्व की दो बेहतरीन कंपनियों में नौकरी का ऑफर छोड़कर देशसेवा की राह चुनने वाली हिमानी ने एसएसबी में देश में पहला स्थान हासिल किया है। उन्हें यह स्थान एनसीसी स्पेशल वुमेन कैटेगरी में मिला है। मूल रूप से अल्मोड़ा जिले के जैंती की रहने वाली हिमानी बिष्ट ने ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी से बीएससी आइटी करने के बाद 2018-20 के बैच में इसी विश्वविद्यालय से एमसीए किया है।

हिमानी ने बताया कि उनके पिता ध्यान सिंह बिष्ट सेना से सेवानिवृत्त हैं और अभी दून में ही सर्वे ऑफ इंडिया में कार्यरत हैं। उनकी मां वैजयंती बिष्ट गृहिणी हैं। हिमानी की स्कूलिंग आर्मी स्कूल से हुई है। इस कारण उन्हें शुरू से सेना से काफी लगाव रहा। एनसीसी-सी सर्टिफिकेट में ए ग्रेड प्राप्त करने पर हिमानी को एसएसबी के लिए इलाहाबाद बुलाया गया था।

दूसरी तरफ ग्राफिक एरा के एक और छात्र का एसएससी में चयन होने से ग्राफिक एरा संस्थान में खुशी की लहर है। ग्राफिक एरा के मैकेनिकल इंजीनियरिंग के छात्र सार्थक चौहान ने भी एसएससी में कामयाबी हासिल की है। सार्थक का चयन भी एसएसबी के इलाहाबाद सेंटर से हुआ है। इन दोनों को सात जनवरी को ऑफीसर्स ट्रेनिंग एकेडमी, चेन्नई में ज्वाइन करने के निर्देश दिए गए हैं। छात्रों की कामयाबी पर संस्थान के अध्यक्ष ने खुशी जाहिर की है ।