बृहस्पतिवार दोपहर 12 बजे विश्विद्यालय के कर्मचारी कार्यालय में काम कर रहे थे। इसी समय एक कर्मचारी ने महिला कर्मी को सोशल मीडिया के माध्यम से मैसेज भेजे। महिला कर्मी ने इसका विरोध किया तो दोनों में विवाद शुरू हो गया। कुमाऊं विश्वविद्यालय के प्रशासनिक भवन में बृहस्पतिवार को पुरुष कर्मी ने एक चतुर्थ श्रेणी महिला कर्मचारी को मैसेज भेजे, जिस पर हंगामा हो गया।

महिला कर्मी ने इस बात को लेकर जब विरोध किया तो दोनों में बहस शुरू हो गई। गुस्साई महिला ने पुरुष के गाल पर जोरदार थप्पड़ भी जड़ दिया। इसके बाद विवाद और बढ़ गया इसके बाद अन्य कर्मचारी भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने किसी तरह से दोनों को शांत कराया। महिला कर्मी का आरोप था कि उक्त कर्मचारी उसे आपत्तिजनक मैसेज भेज रहा था, जिसका उसने विरोध किया। करीब आधे घंटे तक चले हंगामे के बाद पुरुष कर्मचारी ने लिखित में माफीनामा दिया, जिसके बाद दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया।

पुरूष कर्मी का कहना है कि उसने महिला कर्मी को मैसेज भेजे थे लेकिन जैसा महिला कह रही कि वह अश्लीलतापूर्ण थे, ऐसा बिल्कुल नही है। उनका कहना है कि कर्मचारी संगठन के चुनाव को लेकर इस मामले को मुद्दा बनाया जा रहा है। कर्मचारियों ने महिला कर्मचारी को दूसरी जगह स्थानांतरित करने की मांग की है। इस मुद्दे पर दोनों में से किसी ने भी मैसेज सार्वजनिक नही किए।